अमेठी: एक ही गांव में 20 से अधिक संक्रमितों की मौत से इलाके में दहशत, नहीं हो रही टेस्टिंग और सैनेटाइजेशन  

केन्‍द्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी का संसदीय क्षेत्र है अमेठी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के अमेठी जिले में कोरोना ने भयावह रूप ले लिया है। अमेठी के एक ही गांव में 20 से अधिक लोगों की संक्रमण से मौत हो गयी। अमेठी केन्‍द्रीय स्‍मृति ईरानी का संसदीय क्षेत्र है। आरोप है कि यहां टेस्टिंग और सैनेटाइजेशन की व्‍यवस्‍था तक नहीं की गयी है। सर्दी और जुकाम के लक्षण मिलने के बाद कुछ दिनों में ही रोगियों की मौत हो जा रही है।

Devi Maa Dental

अमेठी के हारीमऊ गांव में 20 लोगों की मौतों का मामला समाने आया है।ग्रामीणों का कहना है कि पिछले एक साल में इतनी मौतें नहीं हुईं जितनी एक महीने में हो गई हैं। गांव का दौरा करने पर हारीमऊ गांव के लोगों ने जो कुछ बताया वो काफी चौंकाने वाला पहलू रहा। गांव के निवासी राजेंद्र कौशल कहते हैं कि, ये सच्चाई है 17-18 मौते हुई हैं। एक-एक घर से तीन-तीन लाशें निकली हैं। एंबुलेंस को फोन किया जाता है। आती है तो वो मरीज को उठाते तक नहीं। अगर घर वाले नहीं उठाते तो एंबुलेंस वापस चली जाती है। आशा बहुएं आकर दवा देकर चली जा रही हैं।

 इसी गांव के रहने वाले शहनवाज का कहना है, किस कारण मौत हुई है इसकी वजह नहीं पता। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की टीम आकर दवा देकर चली जाती है। उनके अनुसार न कोई जांच किसी की हुई, न सेनेटाइजिंग हुई। लोग डरे हुए हैं, यहां पास में अस्पताल है टीम आई थी वहां दवा देकर चली गई।

Bansal Saree

गांव के ही 51 साल के महिपथ बताते हैं कि, मौत के कारणों का कोई पता नहीं चल सका है। मेरी इतनी उम्र में आजतक इतनी मौतें कभी नहीं हुई। पूरे एक साल में भी इतनी मौतें कभी नहीं हुई। जितनी इस महीने में हो चुकी हैं 18-20 मौतें। ग्राम प्रधान मोतीलाल का कहना है कि हमारे गांव में करीब 20 मौतें हुई हैं, किस वजह से हुई स्वास्थ्य विभाग की टीम आई लेकिन सही जानकारी नही जुटा पाई। टीम जो आई उसने न सैंपलिंग की न जांच, अस्पताल में दवा दिया और चलते बने।