अजब गजब: वैक्‍सीनेशन टीम को देखकर यूपी में यहां नदी में कूद गए दो सौ गांव वाले, कहा- हम मर जाएंगे

वैक्‍सीन को लेकर भ्रम, इसे लगवाने से मौत हो जाती है

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना वैक्‍सीन को लेकर फैले भ्रम की एक और तस्‍वीर यूपी में सामने आयी है। वैक्‍सीन लगाने गांव पहुंची स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम को देखकर दो सौ से अधिक ग्रामीणों ने नदी में छलांग लगा दी। काफी देर तक स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों ने उन्‍हें समझाने की कोशिश की कि वैक्‍सीन से कोई नुकसान नहीं है लेकिन ग्रामीणों ने उनकी एक नहीं सुनी। यह दिलचस्‍प मामला यूपी के बाराबंकी जिले का है। यहां बाराबंकी जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूर तराई में बसा 1500 लोगों की आबादी वाला गांव है सिसौड़ा। इस गांव में वैक्सीन को लेकर लोगों में इतना डर है कि रविवार को जब स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां वैक्सीनेशन के लिए पहुंची तो गांव के करीब 200 लोग वैक्सीन के डर से भागकर सरयू किनारे पहुंच गए। स्वास्थ्य टीम जब नदी किनारे पहुंची तो इन लोगों ने नदी में छलांग लगा दी। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें समझाकर बाहर निकाला।

Devi Maa Dental

बाराबंकी जनपद की तहसील रामनगर के तराई के एक गांव सिसौड़ा में ग्रामीणों को वैक्सीन लगवाने स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची थी। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा गांव में टीकाकरण कराने को सूचना से ही ग्रामीण खौफज़दा हो गए और वह गांव के बाहर से बह रही सरयू नदी के किनारे आकर बैठ गए।

स्वास्थ्य विभाग की टीम को जब यह सूचना मिली कि ग्रामीण गांव से बाहर नदी की तरफ हैं तो वो उन्हें समझाने गए। अपनी तरफ टीम को आता देख कर ग्रामीण इतने भयभीत हो गए कि उन्हें भागने का रास्ता नही सूझा और टीम से बचने के लिए उन्होंने सरयू नदी में छलांग लगा दी। छलांग लगाते समय ग्रामीणों ने अपनी जान की परवाह भी नहीं की।

Bansal Saree

एसडीएम के समझाने पर भी नहीं माने

ग्रामीणों को नदी में छलांग मारता देख स्वास्थ्य विभाग की टीम के हाथ पांव फूल गए और ग्रामीणों से बाहर आने का अनुरोध करने लगे मगर ग्रामीण बाहर निकलने को तैयार नहीं थे। जिसके बाद रामनगर SDM राजीव शुक्ल और नोडल अधिकारी राहुल त्रिपाठी मौके पर पहुंचे और दोनों ने लोगों को काफी समझाया जिसके बाद लोग नदी से बाहर निकले

सिर्फ 14 ने लगवायी वैक्‍सीन

वैक्सीन को लेकर ग्रामीणों में इस कदर भ्रांतियां फैली हैं कि 1500 लोगों की आबादी वाले सिसौड़ा गांव में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की कड़ी मशक्कत के बावजूद सिर्फ 14 लोगों ने वैक्सीन लगवाई।