भाजपा की लिस्ट जारी होने के बाद अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने योगी को घर भेज दिया, बोले- सपा में अब सबकी नो एंट्री

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। भाजपा के पहले और दूसरे चरण के उम्मीदवारों की फाइनल लिस्ट जारी होने के बाद मीडिया के सामने आए सपा मुखिया अखिलेश यादव का बड़ा बयान सामने आया है। अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी में नो एंट्री का बोर्ड लगा दिया है। मीडिया से मुखातिब अखिलेश ने कहा कि अब सपा में किसी की एंट्री नहीं की जाएगी। उन्होंने साफ किया कि जिन लोगों के टिकट भाजपा ने काटे हैं अब सपा में उनके लिए कोई जगह नहीं है। यदि वे पहले आते तब उन पर विचार किया जा सकता था। अखिलेश के इस बयान के बाद टिकट कटने वाले विधायकों में भी खलबली देखी गयी। हालांकि अधिकतर विधायकों को बीजेपी हाईकमान ने भविष्य के लिए कोई ना कोई आष्वासन दे रखा है। बावजूद इसके कई मौजूदा विधायक लिस्ट में नाम ना आने के बाद पाला बदलने की रणनीति बनाए हुए थे, लेकिन अब सपा मुखिया का बयान सामने आने के बाद ऐसे विधायकों के लिए दिक्कतें खड़ी हो सकती हैं।

Bansal Saree

दरअसल इस बार यूपी चुनाव पूरी तरह से भाजपा बनाम सपा का ही बना हुआ है। राजनैतिक रणनीतिकारों का मानना है कि यूपी चुनाव में भाजपा और सपा की ही कड़ी टक्कर होगी। माना जा रहा है कि इस चुनाव में बसपा कुछ खास कर पाने की स्थिति में नहीं है, हालांकि बसपा मुखिया ने भी आज अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की है। उधर कांग्रेस के हालात में भी किसी से छिपे नहीं हैं। दो दिन पूर्व ही कांग्रेस ने 125 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी।  ऐसे हालात में अब टिकट कटने वाले विधायकों के पास केवल सपा ही एक मजबूत विकल्प था। जिसके दरवाजे अब अखिलेष यादव ने ऐसे विधायकों के लिए बंद कर दिए हैं।

लखनऊ में शनिवार को अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। भाजपा की लिस्ट जारी होने के बाद अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने योगी को घर भेज दिया है। उनका गोरखपुर जाना तो पहले से ही तय था, इसीलिए वहां से भाजपा ने टिकट दे दिया। अब वह भाजपा के किसी भी विधायक को पार्टी में नहीं लेंगे। भाजपा चाहे अब जिसका टिकट काटे, हम किसी को पार्टी में नहीं लेंगे।

Devi Maa

अखिलेश ने कहा कि आज पार्टी कार्यालय में नोटिस लगाई गई है। कार्यकर्ताओं से अपील है कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। सभी कार्यकर्ता, नेता अपने क्षेत्र में जाएं। लखनऊ में किसी को रहने की जरूरत नहीं है। समाजवादी पार्टी गठबंधन के साथ 80% जनता है।

चंद्रशेखर के सवाल पर उन्होंने कहा कि आरएलडी से बात करके उनको दो सीट दे दी गई थी। इसमें गाजियाबाद की सीट थी। लेकिन, उन्होंने किसी से फोन पर बात की और कहा कि उनका संगठन उनको इसकी इजाजत नहीं देता है।

सपा जल्द जारी करेगी मेनिफेस्टो

अखिलेश ने कहा कि वह जल्द ही मेनिफेस्टो लेकर आएंगे। एक प्रगतिशील मेनिफेस्टो होगा, जिसमें प्रदेश के स्वास्थ्य और शिक्षा संबंधित सारी मुद्दों पर बात होगी। गोरखपुर में इस बार समाजवादी पार्टी सभी सीटें जीतने जा रही है। ऐसा मुख्यमंत्री जो घोषणा कर गोरखपुर में मेट्रो न चला पाया हो, वहां की जनता उनको स्वीकार नहीं करेगी। मुफ्त बिजली की बातें भाजपा के लोगों के मुंह से अच्छी नहीं लगती हैं। क्योंकि उनके मुख्यमंत्री ने साढ़े 4 साल में एक भी बिजली कारखाना नहीं दिया। हमने बिजली के मुद्दे पर जो भी फैसला लिया उसमें पूरा होमवर्क किया है। उत्तर प्रदेश को पूरी बिजली दी जा सकती है।