यूपी में कारनामा: पाजिटिव कोरोना रिपोर्ट वाला ये डाक्‍टर क्‍लीनिक खोल करता रहा मरीजों का इलाज

क्‍लीनिक वाली बिल्डिंग में ही सामूहिक नमाज भी अदा करायी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना को लेकर लोगों की मनमानी और लापरवाही थम नहीं रही है। सरकार के कोविड नियमों के पालन और सख्‍ती के बीच एक अजब गजब मामला सामने आया है। यूपी के चित्रकूट जिले में कोरोना पाजिटिव डाक्‍टर ने क्‍लीनिक खोलकर ना जाने कितने ही म‍रीजों का इलाज कर डाला। डाक्‍टर की रविवार को ही कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव निकली थी। शहर कोतवाली क्षेत्र के द्वावारिकापुरी मोहल्‍ले में बिलाल क्‍लीनिक के डाक्‍टर कोरोना रिपोर्ट में संक्रमित निकले थे।

Devi Maa Dental

डॉक्टर के कोरोना पॉजिटिव होने बाद भी खुद न तो मास्क लगाए हुए था और न ही इलाज करवाने आने वाले लोगों को मास्क लगाने के लिए कहा। इतना ही नहीं कोरोना पॉजिटव डॉक्टर ने क्लिनिक को चलाने के बाद उसी बिल्डिंग में हो रही नमाज को भी अदा किया, जिससे कई लोगों के सामूहिक नमाज पढ़ने के बाद लोगों मे कोरोना के संक्रमण का फैलने का खतरा मंडराने लगा है।

ऐसे में अगर किसी की हालत बिगड़ती है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। आलम यह है कि अधिकारियों से शिकायत के बाद भी किसी अधिकारी ने इस डॉक्टर को क्‍वारंटाइन करने की जहमत नहीं उठाई है। ऐसे में मोहल्‍लेवासी प्रशासन की इस कार्यशैली से बेहद नाराज नजर आ रहे है।

Bansal Saree

जिले में अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 493 पहुंच गई है लेकिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों के एरिया को प्रशासन न तो सील करता है और न ही कंटेमेंट जोन बनाता है, जिससे कोरोना पॉजिटिव मरीजों के खुलेआम घूमने से अब लोगो मे कोरोना का खतरा मंडराने लगा है।

आपको बता दे, उत्तर प्रदेश में सोमवार को 13 हजार 604 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 3 हजार 197 लोग रिकवर हुए और 72 की मौत हो गई। अब तक यहां 7.05 लाख लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। इनमें 6.14 लाख ठीक हो चुके हैं, जबकि 9 हजार 224 मरीजों की मौत हो गई। 81 हजार 576 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।