पुलिस की मौजूदगी में विधायक और पूर्व ब्‍लाक प्रमुख के बीच हाथापायी, पिस्‍टल तान विधायक को दी जान से मारने की धमकी

लखीमपुर जिले में ब्‍लाक प्रमुखी पर कब्‍जा जमाने को लेकर दोनों के बीच मारपीट, हाथापायी

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी में पंचायत चुनावों का जोर गरमाने लगा है। अब सत्‍ता के सियासतदानों में छोटे से लेकर बड़े नेता मंत्री और विधायक भी पंचायत चुनावों की जंग में कूद चुके हैं। पंचायतों पर कब्‍जा जमाने के लिए सत्‍ताधारी दल कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है। वहीं प्रमुख विपक्षी दल भी बदलाव की बात कहकर उत्‍साहित होकर चुनाव मैदान में हैं। पंचायत चुनावों में वर्चस्‍व का परचम लहराने के लिए नेताओं में टकराव भी खूब हो रहा है।

Devi Maa Dental

ताजा मामला यूपी के लखीमपुर जिले का है यहां भाजपा के विधायक और पार्टी के ही पूर्व ब्‍लाक प्रमुख के बीच पहले बहसबाजी हुयी और बाद में पिस्‍टल लहरा कर सत्‍ता में ऊंचा और नीचा दिखाने की जुगत भी हुयी। हाईवोल्‍टेज ड्रामे के बीच नकहा के ब्‍लाक प्रमुख पद पर दावेदारी को लेकर माहौल गरमा गया। इसी दौरान भाजपा के विधायक योगेश वर्मा और पार्टी के पूर्व ब्‍लाक प्रमुख पवन गुप्‍ता के बीच बहस शुरू हो गयी। पहले जुबानी बहस होती रही और फिर दोनों में हाथापायी भी हो गयी। हालात यहां तक पहुंच गए कि पूर्व ब्‍लाक प्रमुख संजय गुप्‍ता ने विधायक योगेश वर्मा पर रिवाल्‍वर तानकर जान से मारने की धमकी दे डाली। 

हालांकि कुछ लोगों ने उन्हें पकड़ा और दूर ले गए। यह सबकुछ पुलिस की मौजूदगी में हुआ। सुनील गुप्ता का पिस्टल लहराते हुए वीडियो वायरल है। नकहा विकास खंड मुख्यालय पर रविवार की दोपहर विधायक योगेश वर्मा पहुंचे थे। यहां उनका निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता से एक BDC उम्मीदवार के पर्चा वापसी को लेकर विवाद हो गया। पहले तो विधायक और पवन गुप्ता के बीच कहासुनी हुई।

Bansal Saree

यह देख दोनों नेताओं के समर्थकों ने एक दूसरे को घेर रखा था। हंगामे के बीच बातों ही बातों में विधायक और पवन गुप्ता के बीच धक्का-मुक्की और हाथापाई होने लगी। इसी बीच पवन गुप्ता के भाई सुनील गुप्ता ने लाइसेंसी पिस्टल निकालकर विधायक योगेश वर्मा पर तान दी। लेकिन सुनील के समर्थकों ने उन्हें रोक लिया और धकेलते हुए बाहर ले गए।

मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों के बीच अफरा-तफरी का माहौल रहा। जैसे-तैसे दोनों गुटों को समझा बुझाकर शांत किया गया। सूत्रों का कहना है कि विधायक एक महिला उम्मीदवार BDC को चुनाव लड़ाना चाहते थे। लेकिन निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता पार्टी लाइन से हटकर किसी दूसरे युवक को लड़ाना चाहते हैं। जिला प्रशासन के अधिकारी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं।