श्री राम जन्म स्थान से लेकर माता सीता के जनकपुर तक के दर्शन कराएगी ये स्पेशल ट्रेन, यात्रियों को मिलेंगी यह विशेष सुविधाएं

 | 

न्यूज टुडे नेटवर्क। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) की ओर से पहली भारत गौरव पर्यटक ट्रेन 21 जून से शुरू होगी। यह रामायण सर्किट में अयोध्या से नेपाल के जनकपुर तक प्रभु श्रीराम के जीवन से जुड़े स्थलों का दर्शन कराएगी। यात्रा 18 दिवसीय होगी। यह ट्रेन जाने में 21 जून को ही फिरोजाबाद के टूंडला स्टेशन पर रुकेगी। वहीं लौटते वक्त इसका ठहराव आगरा में होगा। 

krishna hospital

 ट्रेन में बर्थ ही परोसा जाएगा शाकाहारी भोजन 
आईआरसीटीसी के संयुक्त महाप्रबंधक अच्युत कुमार सिंह व मुख्य जनसंपर्क अधिकारी आनंद झा ने आगरा कैंट स्थित एक्जिक्यूटिव लाउंज में शनिवार को मीडिया से बातचीत की। बताया कि भारत गौरव ट्रेन के कोच लखनऊ की कार्यशाला में डिजाइन किए गए हैं। वातानुकूलित पर्यटक ट्रेन में एसी तृतीय श्रेणी के कोच होंगे। आधुनिक किचन कार से यात्रियों को उनकी बर्थ पर ही शाकाहारी भोजन परोसा जाएगा। 

यात्रियों के मनोरंजन के लिए ट्रेन में इन्फोटेनमेंट सिस्टम लगाया गया है। सुरक्षा गार्ड और सीसीटीवी कैमरे भी प्रत्येक कोच में होंगे। उन्होंने बताया कि टूर पैकेज में 18 दिन की यात्रा में प्रति व्यक्ति का शुल्क 62,370 रुपये तय किया है। इसमें यात्रियों के बसों से भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की सुविधा, बीमा आदि की सुविधाएं भी हैं।
इन स्थानों का भ्रमण
दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से चलने वाली भारत गौरव ट्रेन का पहला पड़ाव अयोध्या में श्रीराम जन्मस्थान होगा। यहां से ट्रेन बक्सर जाएगी, जहां विश्वामित्र आश्रम, रामरेखा घाट पर गंगा स्नान होगा। इसके बाद ट्रेन जयनगर होते हुए नेपाल के जनकपुर जाएगी। यहां जानकी जन्म स्थान का दर्शन सीतामढ़ी, रामजानकी मंदिर के दर्शन कराए जाएंगे। 

इसके बाद ट्रेन काशी के मंदिर, सीता समाहित स्थल, प्रयाग, श्रृंगवेरपुर, चित्रकूट, नासिक में पंचवटी, किष्किंधा नगरी हम्पी के बाद रामेश्वरम, कांचीपुरम के बाद तेलंगाना के भद्राचलम में पहुंचेगी। इस दौरान 1800 किलोमीटर की यात्रा की जाएगी। ट्रेन में 600 तीर्थयात्री सफर कर सकेंगे।