सिर्फ 20 माह की बच्ची ने पांच लोगों को ऐसे दी जिंदगी

न्यूज़ टुडे नेटवर्क। बेटियां होती ही ऐसी हैं जिस घर में रहती हैं उस घर को खुशियों से भर देती हैं लेकिन दिल्ली में ऐसी घटना हुई कि सुनकर आपको दुख जरूर होगा। छत से गिरकर घायल हुई 20 माह की धनिष्ठा को गुरुवार को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। ऐसे में उसके परिवार
 | 
सिर्फ 20 माह की बच्ची ने पांच लोगों को ऐसे दी जिंदगी

न्यूज़ टुडे नेटवर्क। बेटियां होती ही ऐसी हैं जिस घर में रहती हैं उस घर को खुशियों से भर देती हैं लेकिन दिल्‍ली में ऐसी घटना हुई कि सुनकर आपको दुख जरूर होगा। छत से गिरकर घायल हुई 20 माह की धनिष्‍ठा को गुरुवार को डॉक्‍टरों ने मृत घोषित कर दिया। ऐसे में उसके परिवार ने उसके अंगदान का फैसला लिया। उनके इस फैसले के बाद धनिष्‍ठा पांच परिवारों के जीवन में रोशनी कर गई।

Devi Maa Dental

रोहिणी की धनिष्ठा ने इन्हें अंगदान किया। इसके साथ वह सबसे कम उम्र की कैडेवर डोनर भी बन गई। आठ जनवरी को धनिष्ठा घर की पहली मंजिल से गिर गई थी। तुरंत उसे सर गंगा राम अस्पताल लाया गया। काफी इलाज के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका और 11 जनवरी को डॉक्टरों ने ब्रेन डेड घोषित कर दिया। हालॉकि, मस्तिष्क के अलावा उसके सारे अंग काम कर रहे थे।

शोकाकुल परिजनों ने साहसिक फैसला लेते हुए अंगदान का निर्णय लिया। धनिष्ठा के पिता आशीष ने कहा कि अस्पताल में कई मरीजों को अंगों की जरूरत थी। इसलिए हमने बच्ची के अंगों को दान करने का फैसला लिया। बच्ची की मां बबिता ने बताया कि हमारी बच्ची तो रही नहीं लेकिन उसके अंगों से पांच लोगों का जीवन बचाया जा सकता था। इसलिए हमने यह फैसला किया।

Bansal Saree