बरेली: जब इज्ज्तनगर रेलवे स्टेशन पर रेलवे के जीएम ने पूछा यह टाइल कैसे उखड़ी, तब अफसरों ने क्या दिया जवाब, देखें यह खबर…

बरेली,न्यूज टुडे नेटवर्क। रेलवे को जीएम को इज्जतनगर रेलवे स्टेशन पर टाइलें टूटी दिखीं तो वे बिफर गए और अफसरों को लापरवाही की फटकार लगा दी। रेलवे के जीएम ने कहा कि रेलवे स्टेशनों की सुन्दरता और अन्य संसाधनों को संवारने में कोई कर्मी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। दरअसल पूर्वोत्तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल के
 | 
बरेली: जब इज्ज्तनगर रेलवे स्टेशन पर रेलवे के जीएम ने पूछा यह टाइल कैसे उखड़ी, तब अफसरों ने क्या दिया जवाब, देखें यह खबर…

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। रेलवे को जीएम को इज्‍जतनगर रेलवे स्‍टेशन पर टाइलें टूटी दिखीं तो वे बिफर गए और अफसरों को लापरवाही की फटकार लगा दी। रेलवे के जीएम ने कहा कि रेलवे स्‍टेशनों की सुन्‍दरता और अन्‍य संसाधनों को संवारने में कोई कर्मी बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी।

Devi Maa Dental

दरअसल पूर्वोत्तर रेलवे के इज्जतनगर मंडल के महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी ने इज्जतनगर स्टेशन और कार्यशाला का निरीक्षण किया। स्टेशन का निरीक्षण करने के दौरान महाप्रबंधक तब भड़क गए जब उन्होंने स्टेशन की टायलों को उखड़ा देखा। उन्होंने इसके जिम्मेदारों को जमकर फटकार लगाई।

इज्जतनगर स्टेशन का निरीक्षण करते समय महाप्रबधंक ने पूछा कि यह टायल कैसी उखड़ी है। इस पर जिम्मेदार संतुष्टि भरा जवाब नहीं दे सके, तब तक महाप्रबधंक को वाटर बूथों पर लगी अलग-अलग रंग की टायल दिखाई पड़ गई। पूछा कि यह एक रंग की क्यों नहीं है। इस पर जिम्मेदारों ने कहा कि इस कार्य की जिम्मेदारी ठेकेदार को दी गई थी। इस पर भी उन्होंने जमकर फटकार लगाई और कहा कि क्या सभी कुछ ठेकेदारों के हवाले ही छोड़ दिया। विभाग की क्या जिम्मेदारी है।

Bansal Saree

इतना ही नहीं, प्रतीक्षालय में लगे चार्जिंग प्वाइंटों पर भी नाराजगी जताते हुए कहा कि इतने चार्जिंग प्वाइंट लगा दिए गए हैं, जितने यात्री नहीं है। इसके बाद उन्होंने मंडल के कार्यों की समीक्षा की। इस पर मंडल रेल प्रबंधक (इन्फ्रास्ट्रक्चर) आशीष कुमार अग्रवाल ने 2024 तक माल लदान दोगना करने की दिशा में करने वाले कार्यों को बताया, साथ ही पूरे मंडल के प्राप्त कुल राजस्व के बारे में भी जानकारी दी।

कार्यशाला में एयर गेज का किया उद्घाटन
इज्जतनगर स्टेशन के निरीक्षण के बाद महाप्रबंधक ने यांत्रिक कारखाना का भी निरीक्षण किया। यहां उन्होंने धातु कार्य प्रयोगशाला, बेसिक प्रशिक्षण केंद्र, डेमू टेस्ट बेंच कक्ष, बोगी और कार्यशाला में तैयार किए जा रहे न्यू मॉडिफाइड गुड्स (एनएमजी) कोच, का निरीक्षण किया। यहां उन्हें संतोषजनक मिला। मुख्य कारखाना प्रबंधक राजेश अवस्थी ने बताया कि कार्यशाला में अब 200 एनएमजी कोचों को बनाया जा चुका है।

इसके बाद महाप्रबंधक ने एयर गेज का उद्घाटन किया। मुख्य कारखाना प्रबधंक ने कोरोना काल की अपनी सभी उपलब्धियों के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि कारखाना कर्मचारियों ने कोरोना काल में पीपीई किट, आईसोलेशन कोच, सैनेटाइजर, मास्क आदि चीजों को बनाया। इस पर महाप्रबंधक ने सराहना की।