बरेली: कोरोना से मृत महिला के शव के पास बैठकर मनाया शोक , फिर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने क्या उठाया कदम, देखिए यह खबर…

बरेली,न्यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के गांव में कोरोना ग्रस्त महिला की मौत के बाद ग्रामीण महिला के शव के पास बैठे रहे। अस्पताल प्रशासन ने कोरोना से ग्रस्त महिला का शव गाइडलाइन के अनुसार परिवार को अंतिम संस्कार के लिए सौंपा था। जब इसकी जानकारी हुई तो हड़कंप मच गया। अब स्वास्थ्य विभाग मृत महिला
 | 
बरेली: कोरोना से मृत महिला के शव के पास बैठकर मनाया शोक , फिर स्‍वास्‍थ्‍य  विभाग ने क्या  उठाया कदम, देखिए यह खबर…

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के गांव में कोरोना ग्रस्‍त महिला की मौत के बाद ग्रामीण महिला के शव के पास बैठे रहे। अस्‍पताल प्रशासन ने कोरोना से ग्रस्‍त महिला का शव गाइडलाइन के अनुसार परिवार को अंतिम संस्‍कार के लिए सौंपा था। जब इसकी जानकारी हुई तो हड़कंप मच गया। अब स्‍वास्‍थ्‍य विभाग मृत महिला के संपर्क में आए सभी लोगों की जांच कराने की कार्रवाई करेगा। गांव में ही कैम्‍प लगाकर पूरे गांव के लोगों की जांच कराई जाएगी।

Bansal Saree

मीरगंज की कोरोना संक्रमित महिला की अस्पताल में मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन ने मृतका का अंतिम संस्कार कोविड गाइडलाइन के अनुसार करने को शव परिजनों को सौंप दिया। परिजन शव को घर ले गए। शव आठ घंटे घर में रखा रहा। चेहरा देखने को कवर खोल दिया। परिजन रिश्तेदार और ग्रामीण शव के पास बैठे रहे। अब स्वास्थ्य विभाग कैंप लगाकर ग्रामीणों की कोरोना की जांच करेगा।

क्षेत्र के गांव की महिला गत दिनों बीमार हो गई। परिजन महिला को बरेली के अस्पताल में ले गए। महिला में कोरोना के लक्षण देखकर डॉक्टर ने महिला को अपने अस्पताल में भर्ती नहीं किया। परिजनों ने महिला को हाईवे पर स्थित अस्पताल में भर्ती करा दिया। जांच में महिला कोरोना संक्रमित निकली। सोमवार दोपहर 2.30 बजे अस्पताल में 50 वर्षीय महिला की मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन ने शव को कोविड गाइडल लाइन के अनुसार अंतिम संस्कार करने को परिजनों को सौंप दिया। परिजन शव को घर ले गए। परिजन रिश्तेदारों के आने का इंतजार करने लगे। परिजन और ग्रामीण शव के पास बैठे रहे। रिश्तेदारों के आने पर मृतका का चेहरा देखने को परिजनों ने शव का कवर खोल दिया। परिजनों ने गांव के पास सोमवार रात 1 बजे महिला का अंतिम संस्कार किया। महिला के शव के पास बैठे लोगों को मृतका के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी हुई तो उनमें हड़कंप मच गया।

Devi Maa

ग्रामीणों ने सीएचसी के चिकित्सा अधीक्षक को मामले की जानकारी दी। प्रधान ने एसडीएम और चिकित्सा अधीक्षक से मिलकर ग्रामीणों की जांच कराने की मांग की। प्रधान ने बताया कि लोगों की जांच को गुरुवार को गांव में कैंप लगेगा। सीएचसी के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अमित ने बताया कि मृतका का अंतिम संस्कार कोविड गाइड लाइन के अनुसार करने अस्पताल ने शव परिजनों को दिया था। ग्रामीणों से शव घर में रखने की सूचना मिली है। सीएचसी की टीम गांव में कैंप लगाकर ग्रामीणों की कोरोना की जांच करेगी।