देहरादून- राज्यमंत्री रेखा आर्य के अधिकारियों को सख्त निर्देश, प्रदेश के ऐसे बच्चों का मांगा पूरा विवरण

 | 

महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने सभी जिलों में बाल कल्याण समिति और जस्टिस जुविनाइल बोर्ड का गठन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी जिलों के ऐसे बच्चों का भी विवरण तलब किया है, जिनके मां-बाप कोरोना के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं। महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य ने वर्चुअल माध्यम से कोरोना के दृष्टिगत विभागीय तैयारियों के संबंध में समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से सभी जिलों के नारी निकेतन, बाल संप्रेषण गृह व शिशु सदनों में कोरोना से बचाव की व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली। कहा कि इन स्थानों पर पर्याप्त मात्रा में मास्क, सैनिटाइजर, थर्मामीटर और आक्सीमीटर रखे जाएं।

Devi Maa Dental

औचक निरीक्षण के दिए निर्देश 

राज्यमंत्री आर्य ने कहा कि 45 वर्ष से अधिक कर्मचारियों के पूर्ण वैक्सीनेशन, 18 से 44 आयुवर्ग के सभी सरकारी व गैरसरकारी कर्मचारियों और जो लोग इन संस्थानों में रहते हैं, उन्हें वैक्सीन लगाने के लिए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को पत्र भेजा जा रहा है। उन्होंने महिला कल्याण निदेशक व सभी जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन बच्चों के माता-पिता कोरोना महामारी के कारण गुजर चुके हैं, उनका पूरा विवरण एकत्र किया जाए और ऐसे बच्चों के देखभाल की व्यवस्था की जाए। 

Bansal Saree

विभागीय मंत्री ने कहा कि इन संस्थानों में रह रहे बच्चों व युवाओं में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इसी के अनुरूप भोजन दिया जाए ताकि वे संक्रमित होने से बच सकें। उन्होंने सभी संस्थाओं में आक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था रखने, सीसी कैमरों से इनकी निगरानी और जरूरत पडऩे पर औचक निरीक्षण के भी निर्देश दिए। बैठक में सचिव हरिचंद्र सेमवाल, निदेशक योगेंद्र यादव व अन्य अधिकारी वर्चुअल माध्यम से उपस्थित थे।