अल्मोड़ा- यहां डॉक्टरों का कार्य देख स्थानीय भी बोले "well done", संक्रमित महिला का ऐसे कराया प्रसव

 | 

अल्मोड़ा के विकास खंड भैंसियाछाना के पीएचसी धौलछीना में चिकित्सकों ने पीपीई किट पहनकर एक कोरोना संक्रमित महिला का प्रसव कराया। नवजात की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव है और चिकित्सकों ने फिलहाल उसे मां से दस दिनों तक दूर रखने का निर्णय लिया है। कोरोना संक्रमित महिला और उसके बच्चे को चिकित्सकों ने अलग अलग वार्ड में रखा है।

Devi Maa Dental

रेपिड टेस्ट में आई थी कोरोना पॉजिटिव

विकास खंड के कनारीछीना के पास स्थित बकरेटी गांव निवासी सरिता देवी पत्नी राजेंद्र सिंह को शुक्रवार को तेज बुखार था। इसी बीच उसे प्रसव पीड़ा शुरू हुई। आनन फानन में उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धौलछीना लाया गया। जहां डा. संजीव शुक्ला ने महिला का स्वास्थ्य परीक्षण किया। रेपिड टेस्ट के दौरान महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई।

Bansal Saree

स्थानीय लोगों ने की सराहना

जिस पर चिकित्सकों ने उसे रेफर करने का निर्णय लिया। लेकिन महिला की हालत को देखते हुए बाद में चिकित्सकों ने वहीं उसका प्रसव कराना उचित समझा। जिसके बाद चिकित्सक डा. संजीव शुक्ला, कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर नेहा रावत, नर्स राधा मेहरा, एएनएम कमला सुपियाल ने पीपीई किट पहनकर महिला का सुरक्षित प्रसव कराया। डा. शुक्ला ने बताया कि महिला को अभी 48 घंटे तक चिकित्सकों की देखरेख में रखा गया है। महिला और बच्चे की जान बचाने पर स्थानीय लोगों ने चिकित्सा टीम की सराहना की है।