देहरादून- यूपी उत्तराखंड बॉर्डर के वन क्षेत्रों की मोबाइल कंटेक्टिविटी पर सांसद बलूनी की पहल, क्षेत्र में घन घनाएँगे फ़ोन

 | 

उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर देहरादून दिल्ली हाईवे पर मोबाइल  कंटेक्टिविटी की समस्या जल्द खत्म होने वाली है। भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख और राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी ने इसकी पहल की है।  भविष्य में आशारोड़ी डाटकाली से लेकर मोहण्ड तक मोबाइल टावरों की स्थापना हो जाएगी। 12 किलोमीटर के इस वन्य क्षेत्र में संचार सुविधा प्रारम्भ कराने की राज्यसभा सांसद बलूनी की पहल परवान चढ़ती नजर आ रही है।

Devi Maa Dental

 भारतीय दूरसंचार विभाग और रिलायंस टेलीकॉम ने इस क्षेत्र में 5 से 7 स्थान चिन्हित किए हैं, जिसमें से तीन लोकेशन उत्तराखंड वन विभाग की सीमा के अंतर्गत है और उसका राज्य सरकार के द्वारा तेजी से भूमि हस्तांतरण का कार्य प्रारंभ हो चुका है।

 उत्तर प्रदेश वन विभाग की सीमा के अंदर आने वाली 4 लोकेशन के लिए बलूनी द्वारा उत्तर प्रदेश के वन मंत्री  दारा सिंह चौहान  से चर्चा हुई और चौहान ने सहर्ष सहमति देते हुए अपने अधिकारियों को इन क्षेत्रों में सहयोग करने का निर्देश दिया है। बहुत जल्द उत्तर प्रदेश सरकार की अनापत्ति और अन्य औपचारिकताएं पूर्ण हो जाएंगी जिसके बाद तेजी से टावरों की स्थापना कर निर्माण पशुरू हो जाएगा।

Bansal Saree

 दोनों राज्यों की सरकारों की त्वरित संस्तुति से शीघ्र ही  पर्यटकों और आमजन को दूरसंचार सेवा का लाभ मिलेगा। उत्तर प्रदेश के वन मंत्री  दारा सिंह चौहान  के सकारात्मक सहयोग और त्वरित रूप से प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के प्रयास से उम्मीद जगी है कि सरकारी भूमि हस्तांतरण प्रक्रियाओं के बाद दूरसंचार कंपनियां इस कार्य में तेजी दिखाएंगी।