हल्द्वानी-प्रान्तीय नगर उद्योग व्यापार मंडल केे प्रभारी ने सीएम को भेेजा पत्र, व्यापारियों के लिए की ये मांंग

 | 

हल्द्वानी- राज्यसभा सांसद प्रतिनिधि व प्रदेश संगठन प्रभारी प्रान्तीय नगर उद्योग व्यापार मंडल उत्तराखण्ड के वीरेंद्र गुप्ता ने सीएम को एक ईमेल भेजते हुए लिखा है कि कोरोना महामारी के कारण समस्त व्यापरियों का कारोबार बिल्कुल ठप पड़ा है। राज्य व केंद्र सरकार द्वारा आज तक व्यापारियों की कोई मदद नहीं की है। आज व्यापारी बन्धु विभिन्न प्रकार के कर्जो के बोझ तले दबे है।उन्होंने कहा कि वर्तमान में व्यापारियो के समक्ष दुकानों का किराया,कर्मचारियो का वेतन, बिजली पानी के बिलों का भुगतान, बैंकों की किस्तें, हाउसिंग लोनकी किस्तें, बच्चों के स्कूल व कोचिंग ट्यूशन  की फीस, गाडिय़ो के टैक्स आदि देना है। व्यापारी दिन-रात मेहनत करके राज्य व केंद्र सरकार को विभिन्न प्रकार के टैक्स समय पर देता है। सरकार से व्यापारियों को अन्य लोगों की भांति किसी भी प्रकार का आर्थिक पैकेज भी नहीं प्राप्त होती है। उन्होंने आर्थिक पैकेज की मांग की है।

Devi Maa Dental

गाइडलाइन जारी करते समय वर्तमान में पूर्णतय: बन्द पड़े कारोबारियों के विषय में किसी भी प्रकार का विचार नहीं किया जाता है। उन्होंने कहा कि  क्या इन व्यापारियों के कारण ही कोरोना संक्रमण फेल रहा है । गाइडलाइन जारी की गई है वो तर्क संगत नहीं है। इससे काला बाजारियों , मिलावटखोरों, मुनाफाखोरों व डुप्लीकेसी को बढ़ावा मिल रहा है। सरकार के राजस्व की चोरी हो रही है। ऑनलाइन के नाम पर करने वाले कारोबारी कम्पनियों का किसी भी प्रकार की मदद हो या राज्य के विकास में कोई योगदान नहीं है। उन्होंने सीएम से मांग की है कि कारोबारियों की हर प्रकार की सरकारी विभागीय अदायगी पर एक वर्ष तक रोक लगाई जाय व केन्द्र सरकार से अनुरोध कर बैंको की किश्तों पर भी एक वर्ष रोक लगाई जाय जिससे कारोबारी आर्थिक संकट से उबर सकें। साथ ही भविष्य में किसी भी प्रकार के बन्द हेतु गाइडलाइन जारी करते समय पूर्णतय: बन्द पउ़े कारोबारियों का भी संज्ञान लिया जाय।