नैनीताल - जिले में पहुंची पहली रेमडेसिविर इंजेक्शन की खेप, इन अस्पतालों को की गई सप्लाई

 | 

नैनीताल - जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने बताया कि शासन द्वारा जनपद को 600 रेमडेसिविर की पहली खेप उपलब्ध करा दी है जिसका वितरण कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सुशीला तिवारी को 300, बीडी पाण्डे  नैनीताल को 120 तथा बेस अस्पताल को 180 रेमडेसिविर उपलब्ध करा दिये गये  है। इससे मरीजों के उपचार में चिकित्सकों को आसानी होगी। इंजेक्शन किन मरीजों को लगेगा, इसकी गाइडलाइन एचटीएच प्रशासन की ओर से तय कर दी गई है। 

Devi Maa Dental

डीएम गब्र्याल ने बताया कि कोरोना के मरीजों को लगने वाली रेमडेसिविर इंजेक्शन की लम्बे समय से डिमांड हो रही थी। प्राचार्य डॉ. सीपी भैसोड़ा, एमएस डॉ. अरूण जोशी व मेडीसिन विभाग के एचओडी डॉ. एसआर सक्सेना ने 22 अप्रैल को जारी आईसीएमआर का हवाला देते हुए मामले में गाइडलाइन जारी कर दी है जिसमें विशेष तौर पर कहा गया है कि जो मरीज ऑक्सीजन पर नहीं है तथा घर पर हैं उन्हें रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं दिया जाएगा। डॉक्टरों की टीम ने बताया कि मरीजों को इंजेक्शन लगाने को लेकर काफी दबाव बनाया जाता है। इस पर उन्होंने डॉक्टरों से किसी के दबाव में आकर पूरी नियम कायदों से काम करने की अपील की है। डॉक्टरों की टीम ने कहना है कि रेमडेसिविर का पांच इंजेक्शन का कोर्स होता है। यह जिले में तीन सरकारी और तीन प्राइवेट अस्पताल को दिए गए है। 

उन्होंने  बताया कि प्रदेश सरकार ने उत्तराखंड में रेमडेसिवर इंजैक्शन की दर 2464 रूपये तय कर दी हैं। इसके अलावा सरकार ने बवअपक19ण्नाण्हवअण्पद नामक पोर्टल शुरू किया है जिसमें अधिगृहित प्रत्येक चिकित्सालय में खाली बेडों की संख्या को आन लाइन देखा जा सकता है। 

Bansal Saree