बेतालघाट-विधायक संजीव ने किया अम्बेडकर की नवीन मूर्ति का अनावरण, की ये बड़ी घोषणा

 | 

बेतालघाट- विकास खंड में अंबेडकर जयंती पर अनुसूचित जाति आयोग द्वारा आयोजित शिविर का क्षेत्रीय जनता ने भरपूर लाभ उठाया। भारतीय संविधान के जनक व सामाजिक न्याय के प्रणेता, स्वतंत्रता, समानता, भाईचारा, विज्ञानवाद और अहिंसा के प्रबल पक्षधर रहे महान समाज सुधारक भारत रत्न बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर की 130 वीं जयंती पर ग्राम जावा शेरा में डॉ. अम्बेडकर ग्रामीण सेवा समिति द्वारा आयोजित जयन्ती कार्यक्रम में नैनीताल विधायक संजीव आर्य और  अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा अम्बेडकर की नवीन मूर्ति का अनावरण व माल्यार्पण किया। विधायक संजीव आर्या ने अम्बेडकर की मूर्ति का अनावरण करते हुए भवन का उद्घाटन भी किया। बाबा साहेब के नाम से एससीएसपी में भव्य लोक सांस्कृतिक भवन बनाने की घोषणा की है।

Devi Maa Dental

उत्तराखंड अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष पीसी गोरखा के निर्देश पर बहुउद्देशीय जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया था। जिसमें समाज कल्याण विभाग द्वारा बहुउद्देशीय शिविर में दो व्हील चैयर, पैंतीस आँख के चश्मे, दो कान की मशीन, सौ छड़ी के रूप में जरूरतमन्दों को जीवन सहायक उपकरण उपलब्ध कराये। श्रम विभाग की ओर से दो सौ लोगों को पंजीकरण फार्म भरवाये गये, स्वास्थ्य विभाग की ओर से नि:शुल्क जाँच व स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ ही मरीजों को दवाई वितरित की गयी। कृषि विभाग, मत्स्य पालन विभाग, महिला सशक्तिकरण व बाल विकास विभाग, उद्यान विभाग, आधारकार्ड बनाने, राजस्व विभाग, सिंचाई विभाग के अधिकारियों द्वारा भी स्टाल लगाकर जानकारी दी गयी और स्वरोजगार आत्मनिर्भर भारत बनाने का संकल्प लिया गया। 

Bansal Saree

इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य अंकित शाह, जिला पंचायत सदस्य आशा देवी, जिला श्रम अधिकारी मीनाक्षी कांडपाल, नायब तहसीलदार बर्खा जलाल, समाज कल्याण अधिकारी असलम खान, खंड विकास अधिकारी डीके सुयाल, बाल विकास अधिकारी बीना रावत, समाजसेवी राहुल अरोड़ा, यशपाल, महेंद्र कुमार, भारत आर्य, कुलदीप कुमार, शेखर चन्द्र, भुवन, कैलाश चन्द्र, मंडल अध्यक्ष प्रताप सिंह बोहरा, किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष दिलीप सिंह, जिला मंत्री माया बोहरा, नीमा खुल्बे, सोनू डौर्बी, किशोर कुमार, आनन्द सिंह बोहरा, आनन्द सिंह रावत, के एस जलाल, इंद्र सिंह बोहरा, नवीन कश्मीरा, नवीन चमकनी आदि गणमान्य मौजूद थे ।