हल्द्वानी - पत्थरों के कुचलकर युवक की कर दी थी निर्मम हत्या, पुलिस ने 05 घंटे के अंदर किया गिरफ्तार

 | 
हल्द्वानी - जवाहर ज्योति दमुआढुंगा पनियाली वार्ड नंबर 38 निवासी वासु वैरागी पुत्र स्वर्गीय सुकुमार वैरागी ने थाना मुखानी पुलिस को आज एक तहरीर सौंपी जिसमें उन्होंने कहा कि विगत दिवस पूरन चंद्र सनवाल निवासी बिठौरिया नंबर 2 विष्णुपुरा कॉलोनी के घर के सामने खाली पढ़े प्लांट में मोहित चंद्र आर्य उर्फ मंकू पुत्र दीवान चंद्र आर्य निवासी दमुआदूंगा पनियाली वार्ड नंबर 38 ने उनके पुत्र प्रकाश वैरागी उम्र 25 वर्ष को निर्मम तरीके से पथरो से सिर में वार कर जान से मार कर हत्या कर दी, जिस संबंध में थाना मुखानी पुलिस ने तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जांच शुरू की।
 
मुखानी क्षेत्र में हुई निर्मम हत्या का तत्काल खुलासा करने व हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने हेतु एसएसपी नैनीताल पंकज भट्ट द्वारा घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण कर अधीनस्थों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए थे। साथ ही अपर पुलिस अधीक्षक अपराध एवं यातायात नैनीताल जगदीश चंद्र, अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी हरबंस सिंह के दिशा निर्देश अनुसार क्षेत्रीय अधिकारी हल्द्वानी भूपेंद्र सिंह धोनी के परिपेक्ष में थाना अध्यक्ष मुखानी दीपक बिष्ट के नेतृत्व में तत्काल टीमों का गठन किया गया। गठित टीमों के द्वारा घटनास्थल क्षेत्र के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों का भली-भांति से अवलोकन किया गया तथा टीम द्वारा क्षेत्र में पता, सुराग रस्सी करते हुए उक्त हत्या की घटना के मुख्य आरोपी को उप निरीक्षक प्रवीण कुमार के नेतृत्व में पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए घटना सूचना देने के 5 घंटे के भीतर आरोपी मोहित चंद्र आर्य उर्फ मंकु जो कि अपने कपड़े बदल कर कही भागने की फिराक में था को चौपला चौराहा से गिरफ्तार किया गया।
krishna hospital
 
वहीं पूछताछ में आरोपी द्वारा बताया गया कि मृतक प्रकाश वैरागी द्वारा उसे मां बहन की गालियां दे रहा था, जिस कारण गुस्से में आकर उसके द्वारा प्रकाश वैरागी को मुंह व सिर पर पत्थरों से प्रहार कर हत्या कर दी। पुलिस टीम में उप निरीक्षक प्रवीण कुमार, उप निरीक्षक महेंद्र राज सिंह कॉन्स्टेबल हरीश खेड़ा, कॉन्स्टेबल आलोक कुमार, कॉन्स्टेबल महबूब अली शामिल रहे।
वहीं एसएसपी नैनीताल पंकज भट्ट ने पुलिस टीम को 2500 रुपए का नगद पुरस्कार दिया गया।