हल्द्वानी- मशहूर सर्जन और संजीवनी अस्पताल के संचालक डॉ.महेश कुमार झील में डूबे, सर्च ऑपरेशन जारी
 

 | 

हल्द्वानी- शहर के मशहूर सर्जन और संजीवनी अस्पताल के संचालक डॉ महेश कुमार झील में डूब गए। (Dr.mahesh kumar owner of sanjeevani hospital haldwani drowned in the tarsar lake of kashmir) वह ट्रैकिंग पर गए हुए थे, कश्मीर के पुलवामा जिले में झील पर पैदल चलने के लिए बने लकड़ी के पुल पर जा रहे डॉ महेश कुमार अचानक तेज बारिश में पुल टूटने के कारण अपने साथी व स्थानीय गाइड डॉक्टर शकील अहमद के साथ झील की तेज धारा में बह गए। देर शाम तक चले सर्च आपरेशन में दोनों का पता नहीं चल सका। ऐसे में अनहोनी की आशंका में स्वजन सहमे हुए हैं। वहीं, घटनास्थल पर मौजूद 12 अन्य लोगों को बचाव दल ने सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया है।

krishna hospital

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार डा. महेश कुमार 18 जून को हल्द्वानी से अपने साथियों के साथ ट्रैकिंग के लिए तारसर झील क्षेत्र में पहुंचे थे। उनके साथ तीन टूरिस्ट गाइड व 14 अन्य लोग भी थे। वहां तीन दिन से लगातार भारी बारिश के कारण दल ऊपर फंस गया। झील का जलस्तर बढ़ने से बुधवार सुबह तारसर झील पर बने पैदल पुल का हिस्सा ढह गया। इससे डा. महेश और उनके साथ रहे गांदरबल के डा. शकील अहमद झील में डूब गए। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम ने दल के 12 सदस्यों को वहां से निकाल आरू बेस कैंप तक पहुंचा दिया। पहलगाम के तहसीलदार मोहम्मद हुसैन ने बताया कि डा. महेश व डा. शकील झील में डूब गए हैं। वहीं, डा. महेश के साथ गए हल्द्वानी के ही डा. रोशन ने बताया कि वह डूब गए हैं। अभी उनका कुछ पता नहीं चल सका है। गुरुवार सुबह बचाव दल फिर उनकी तलाश करेगा। अभी हम सभी उनकी सलामती की प्रार्थना कर रहे हैं।

 

ट्रैकिंग के शौकीन हैं डा. महेश

नगर के प्रतिष्ठित चिकित्सक महेश कुमार (Dr.Mahesh Kumar Sanjeevani Hospital Haldwani) ट्रैकिंग के शौकीन हैं। वह समय-समय पर ट्रैकिंग के लिए दूरस्थ इलाकों में जाते रहे हैं। हाल ही में गढ़वाल भी ट्रैकिंग के लिए गए थे। मौजूदा समय में डा. महेश अपनी बेटी के साथ अस्पताल का संचालन करते हैं।

chaitanya