हल्द्वानी-दो माह बाद फिर गौलापार पहुंचा गुलदार, ऐसे कराया अपने मौजूदगी का आभास

हल्द्वानी-लॉकडाउन के बाद गुलदार का आतंक पहाड़ से लेकर शहर तक जारी है। गुलदार ने कई लोगों को अपना निवाला बनाया। पिछले दो महीने बाद अब सुंदरपुर रैक्वाल गांव में गुलदार फिर से पहुंच गया। आज खेतों में जगह-जगह उसके पंजों के निशान मिलने से ग्रामीण भी डरे हुए हैं। इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन
 | 
हल्द्वानी-दो माह बाद फिर गौलापार पहुंचा गुलदार, ऐसे कराया अपने मौजूदगी का आभास

हल्द्वानी-लॉकडाउन के बाद गुलदार का आतंक पहाड़ से लेकर शहर तक जारी है। गुलदार ने कई लोगों को अपना निवाला बनाया। पिछले दो महीने बाद अब सुंदरपुर रैक्वाल गांव में गुलदार फिर से पहुंच गया। आज खेतों में जगह-जगह उसके पंजों के निशान मिलने से ग्रामीण भी डरे हुए हैं। इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी और टीम से निरंतर गश्त की मांग करने के साथ गांव में पिंजरा लगाने का भी कहा।

Devi Maa Dental

देहरादून-त्रिवेन्द्र सरकार का अनोखा कदम, अब विकास कार्यों के लिए सचिवों को भी लगानी होगीं जिलों में दौड़

रानीबाग ग्राम पंचायत में दो महिलाओं को गुलदार द्वारा निवाला बनाया गया। इसके बाद गुलदार को नरभक्षी घोषित कर शिकारी की गोली भी लगी लेकिन वह जंगल को भाग निकला। फिर दोबारा नजर नहीं आया। इससे पहले देवलचौड़ स्थित पालम सिटी व केशवकुंज विहार में डेढ़ माह तक गुलदार लगातार नजर आया। अक्टूबर की शुरूआत में फतेहपुर क्षेत्र में गुलदार की आतंक बढ़ गया। यहां उसने आठ लोगों पर हमला भी किया। पिछले दो माह से गौलापार में गुलदार नहीं दिख रहा था। कुछ हिस्सों में हाथियों का आतंक था। मगर अब सुंदरपुर रैक्वाल ग्राम पंचायत में फिर से गुलदार पहुंच गया। जिसके बाद लोगों में भय का माहौल बना हुआ है।

Bansal Saree