किच्छा- यहां इंसान की मजबूरी का ऐसा उठाया जा रहा था फायदा, एसटीएफ के छापे से उड़े सबके होश

 | 

देशभर में जहां कोरोना ने लोगो का जीवन अस्त व्यस्त कर रखा है। वही दूसरी ओर कोरोना मरीजों के इलाज में जरूरी उपकरणों की कालाबाजारी भी जोरों पर है। हालाकिं प्रशान ऐसे लोगो पर नकेल कसने के लिए ताबातोड़ कार्यवाही भी कर रहा है। बावजूद इस पर लगाम कस पाना असफल सा साबित हो रहा है। ऐसा ही एक मामला उधमसिंह नगर जिले के नानकमत्ता से प्रकाश में आया है। यहां पुलिस ने कोरोना में उयोग होने वाली दवाओं की कालाबाजारी का भंड़ाफोड़ किया है। दवाओं की पांच पेटी के साथ पुलिस ने एक युवक को भी गिरफ्तार किया है।

Devi Maa Dental

कही दवाओं की तो कही ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी

बता दें कि उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक के निर्देशों पर एसएसपी उधम सिंह नगर के द्वारा कोरोना के उपयोग की दवाइयों की कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए एक टीम का गठन किया गया है। कालाबाजारी की सूचना मिलने पर नानकमत्ता पुलिस ने दो मेडिकल स्टोरों से कोरोना उपयोग में आने वाली दवाओं की कालाबाजारी करते हुए 5 अबैध दवाई पकड़ी हैं। पूरे प्रकरण में एक आल्टो कार भी बरामद हुई है। पुलिस जानकारी के मुताबिक आरोपी कार का सहारा लेकर दवा की कालाबाजारी कर रहे थे। पुलिस ने आरोपी रंजीत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है। इधर एसटीएफ ने किच्छा से एक दुकान से 49 ऑक्सीजन सिलेंडर भी बरामद किये है। सूचना है कि यहां 5000 हजार का सिलेंडर 20,000 में बेचा जा रहा था। पूरे मामले में पुलिस ने दुकान स्वामी समेत दो को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

Bansal Saree