हल्द्वानी- कुमाऊं के 100 रूटों पर फिर दौड़ती नज़र आएंगी केमू बसे, खत्म हुई हड़ताल 

 | 

उत्तराखंड में कोरोना के मामले जैसे जैसे कम हो रहे है वैसे वैसे कामकाजों में राहत देने का सिलसिला भी जारी है। उत्तराखंड परिवाहन की बसों को छूट के बाद अब केमू की बसे भी कुमाऊं के पहाड़ी रास्तों में दौड़ती नज़र आएंगी। दरअसल लंबे समय से हड़ताल पर गये केमू बसों की आज से वापसी हो रही है। वही देर रात सरकार ने नई एसओपी जारी कर अब शत-प्रतिशत सवारियां ले जाने की अनुमति भी दी है। ऐसे में पहाड़ी रूटों पर 39 दिनों बाद केमू की बसें फिर से चलने लगेंगी।

Devi Maa Dental

किराये के विवाद को लेकर शुरू की थी हड़ताल

बता दें कि इससे पहले किराये के विवाद को लेकर दो मई के बाद से केमू बसों का संचालन पूरी तरह ठप था। सरकार द्वारा 50 और फिर 75 प्रतिशत सवारियों का नियम लागू करने पर केमू संचालकों ने पहले दोगुना और फिर डेढ़ गुना किराया देने की मांग की थी। लेकिन मांग पूरी नहीं होने पर दो मई को बसें खड़ी कर दी की गई थी। 

Bansal Saree

100 रूटों पर 350 बसें

पहाड़ के करीब 100 रूटों पर केमू की 350 बसों का संचालन होता है, जो हड़ताल खत्म होने के बाद अब दोबारा शुरू होगा। वही अब पहले की तरह पूरी सवारियों का आदेश आने पर केमू मालिकों ने बैठक के बाद संचालन के लिए हामी भर दी है।