देहरादून- प्रदेश में इतने बच्चों को मिलेगा सीएम की वात्सल्य योजना का लाभ, तैयार हुआ पूरा प्लान

 | 

समाज कल्याण विभाग ने मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का खाका तैयार कर लिया है। अब इसे जल्द मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के समक्ष रखा जाएगा। विभाग ने इस योजना का दायरा बढ़ाते हुए इसमें ऐसे बच्चों को भी शामिल करने का निर्णय लिया है जिनके घर के एकमात्र कमाने वाले सदस्य की कोरोना से मृत्यु हो गई है। 

Devi Maa Dental

सीएम ने की थी योनजा की घोषणा

बता दें कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कुछ समय पहले कोरोना के कारण माता-पिता खो चुके अनाथ बच्चों के लिए वात्सल्य योजना शुरू करने की घोषणा की थी। इस योजना के तहत अनाथ बच्चों को प्रतिमाह तीन हजार रुपये की आर्थिक सहायता, बच्चों को राशन और शिक्षा व रोजगारपरक शिक्षा देने की बात कही गई। अब महिला सशक्तीकरण विभाग ने इसका खाका तैयार कर लिया है। प्रदेश में ऐसे बच्चों की संख्या 399 है। 

Bansal Saree

बच्चों को मिलेगी रोजगारपरक शिक्षा

विभागीय राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रेखा आर्य ने बताया कि वात्सल्य योजना के दायरे में लिये जाने वाले बच्चों का रिकार्ड तैयार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार इन बच्चों को आर्थिक सहायता देने के साथ ही उनकी शिक्षा का पूरा खर्च भी उठाएगी। इसके साथ ही उन्हें रोजगारपरक शिक्षा भी दी जाएगी ताकि ऐसे बच्चे अपने पैरों पर खड़े हो सकें। उन्होंने कहा कि जल्द ही यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री के समक्ष मंजूरी के लिए रखा जाएगा।