हल्द्वानी-  प्रसिद्ध बांसुरी वादक मुरली महाराज का निधन, कला प्रेमियों में शोक की लहर

 | 

हल्द्वानी के प्रसिद्ध बांसुरी वादक मुरली महाराज का आज निधन हो गया। उनके निधन से हल्द्वानी के कलाप्रेमी आहत हैं। बता दें कि मुरली महाराज लंबे समय से बीमार चल रहे थे। तीन दिन पहले उन्हें मुखानी स्थित अस्पताल में भर्ती किया गया था। वह डॉक्टरों की लगातार निगरानी में थे। लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा था। आज सुबह 7 बजकर 15 मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली।

Bansal Saree

युवाओं को शास्त्रीय संगीत से जोड़ा

आजन्म कला की साधना में जुटे रहे 86 वर्षीय मुरली महाराज के निधन से हल्द्वानी के कला प्रेमियों ने गहरा दुख व्यक्त किया है। पर्वतीय उत्थान मंच में संस्कृतिक गतिविधियों में उनकी अहम भूमिका रही। उन्होंने संगीत के माध्यम से कई बड़े आयोजनों के जरिये शहर में बड़े कलाकारों को आमंत्रित कर युवाओं को शास्त्रीय संगीत से जोड़ा। महाराज शहर की सांस्कृतिक गतिविधियों के केंद्र में रहते थे। उन्होंने संगीत के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया। उनके बेटे व्यापक जोशी ने बताया कि उनका अंतिम संस्कार आज ही चित्रशिला घाट पर किया जाएगा।