ऋषिकेश-सादे कपड़ों में पहुंची एसओजी दो लैब संचालक गिरफ्तार, यहां चल रहा था आटीपीसीआर टेस्ट का बड़ा खेल

 | 

 ऋषिकेश- प्रदेश में कोरोनाकाल के दौरान लगातार कालाबाजारी देेखने को मिल रही है। आज फिर आटीपीसीआर टेस्ट के लिए ओवर-रेटिंग करने वाले दो लैब संचालकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एसओजी ग्रामीण टीम को सूचना मिली कि कोतवाली ऋषिकेश क्षेत्रान्तर्गत पुरुषोत्तम डाईग्नोस्टिक सेंटर और रानीपोखरी के पैथ केयर लैब एंड डाईग्नोस्टिक सेंटर के संचालक आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए 1200 से 1500 रुपये वसूल रहे हैं।

Devi Maa Dental


बता दें कि शासन द्वारा आरटी पीसीआर टेस्ट का शुल्क 700 रुपये निर्धारित किया गया है। सूचना पर ग्रामीण एसओजी टीम के सदस्य सादे कपड़ों में आरटीपीसीआर टेस्ट कराने इन लैब में पहुंचे। कर्मचारियों से भी पैथोलोजी लैब संचालको द्वारा आरटीपीसीआर टैस्ट के एवज में 1200 रुपये शुल्क लिया गया। जिसका भुगतान कर्मचारियों ने गूगल पे के माध्यम से किया। सूचनाओ के तस्दीक होने पर तत्काल एसओजी ग्रामीण व स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम ने उक्त लैबो में छापा मारते हुए ओवर रेटिंग करने पर दो व्यक्तियों को मौके से गिरफ्तार कर उनके पास से लैब से संबंधित रजिस्टर, स्वैप मशीन ,मोबाइल फोन, गूगल पे क्यूआर कोड स्लिप व नगदी बरामद की गई।


कोतवाली ऋषिकेश व थाना रानीपोखरी में पुरुषोत्तम डाईग्नोस्टिक सेंटर के संचालक डॉ. नवीन गोयल पुत्र पुरुषोत्तम दास निवासी अयोध्या गंज, दादरी, थाना दादरी जिला गौतम बुद्ध नगर, उत्‍तर प्रदेश, हाल निवासी ऋषिकेश तथा पैथ केयर लैब एंडडाईग्नोस्टिक सेंटर के संचालक दीपक सिंह पुत्र प्रवीण सिंह निवासी झंडीचौक, कोटद्वार, पौड़ी गढ़वाल के खिलाफ  संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Bansal Saree