देहरादून- अनाथ बच्चों को लेकर बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग ने ये कदम,  अनाथ हुए बच्चों को ऐसा मिलेगा संरक्षण

 | 

देहरादून- कोरोना  के कारण अनाथ बच्चों के संरक्षण के लिए बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग ने कदम उठाए हैं। आज आयोग ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं कि वह कोरोना संक्रमण के कारण माता-पिता के भर्ती होने की स्थिति में बच्चों का विवरण भी दर्ज करे। उनकी व उनके बच्चों की देखभाल करने वाले व्यक्तियों का भी  रिकॉर्ड रखे। आयोग ने डीजीपी अशोक कुमार और जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव को भी इस संबंध में निर्देशित किया है। 

Devi Maa Dental

गौरतलब है कि  आयोग के पास ऊधमसिंह नगर, बागेश्वर से ऐसे में मामले आए, जिसमें माता-पिता की कोरोना से मौत के बाद बच्चे अनाथ हो गए। इस तरह के बच्चों को शीघ्र संरक्षण मिले, इसी प्रयास के साथ बाल आयोग ने संरक्षण को कदम उठाया है। आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बताया कि कई बार अनाथ बच्चों की देखभाल सही से नहीं हो पाती या स्वजन उन्हें अनदेखा करने लगते हैं। ऐसे में उन्हें बेहतर माहौल दिलाने और सही देखभाल के लिए हेल्पलाइन 104 और स्वास्थ्य विभाग के संजीवनी पोर्टल से भी जोड़ जाएगा। इसके अलावा पुलिस और जिला प्रशासन अनाथ बच्चों की जानकारी व संरक्षण को लेकर मदद करेंगे। 


 

Bansal Saree