देहरादून-पूर्व सीएम हरदा बोले #Speakupindia, कोरोनाकाल में पीडि़त लोगों के लिए ऐसे उठाई आवाज

देहरादून-उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लगातार राज्य और केन्द्र सरकार को घेरने में लगे है। वह प्रवासियों के लिए आवाज उठा रहे है। कोरोना काल में हर राज्य से प्रवासी मजदूर अपने घरों को लौट चुके हैं। ऐसे में अपने घरों में लौटे मजदूरों के आगे आर्थिक समस्या खड़ी हो गई है। कैसे वह
 | 
देहरादून-पूर्व सीएम हरदा बोले #Speakupindia, कोरोनाकाल में पीडि़त लोगों के लिए ऐसे उठाई आवाज

देहरादून-उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लगातार राज्य और केन्द्र सरकार को घेरने में लगे है। वह प्रवासियों के लिए आवाज उठा रहे है। कोरोना काल में हर राज्य से प्रवासी मजदूर अपने घरों को लौट चुके हैं। ऐसे में अपने घरों में लौटे मजदूरों के आगे आर्थिक समस्या खड़ी हो गई है। कैसे वह अपनी आजीविका चलाये। कैसे वह अपने परिवार का भरण-पोषण करें। आज पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने फेसबुक वॉल पर एक वीडियो शेयर करते हुए प्रवासियों के हक में आवाज उठाई।

Devi Maa Dental

देहरादून-पूर्व सीएम हरदा बोले #Speakupindia, कोरोनाकाल में पीडि़त लोगों के लिए ऐसे उठाई आवाज
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि #Speakupindia, भारत बोले न्याय, हां न्याय। गरीबों व आम व्यक्ति के खाते में तत्काल 10 हजार की धनराशि डाली जाय। छोटे उद्योगों को, उद्यमियों को, व्यापारियों को कर्ज नहीं बल्कि नकदी देकर ताकि वो अपने पांवों पर खड़े हो सकें। हरीश रावत ने कहा कि हमारे वो भारत निर्माता श्रमिक जिन्हें हम प्रवासी मजदूर कह रहे है। जो अपने घरों को लौट रहे हैं उनका खर्चा केन्द्र सरकार उठाये। उन्होंने कहा कि न्याय चाहिए उनके लिए जो श्रमिक है गांव के, उन्हें 100 दिन के बजाय 200 दिन का रोजगार दिया जाय। हरीश रावत ने कहा कि हम सब न्याय के साथ खड़े है, भारत न्याय के साथ खड़ा है।