देहरादून-अब कभी नहीं सुनाई देगी भाई साहब प्रणाम! की आवाज, फफक-फफक कर रो पड़े सीएम

देहरादून-सल्ट के विधायक सुरेंद्र जीना के आकस्मिक निधन से उनके पैतृक गांव नैटी सिमलधार ताड़ीखेत में भी लोग शोक संतप्त हैं। ग्रामीणों ने कहा कि 22 दिन पहले विधायक जीना गांव आए थे। गुरुवार सुबह अचानक निधन की सूचना मिलते ही ग्रामीणों की आंखें नम हो गईं। ग्रामीण बोले की प्रदेश ने एक होनहार नेता
 | 
देहरादून-अब कभी नहीं सुनाई देगी भाई साहब प्रणाम! की आवाज, फफक-फफक कर रो पड़े सीएम

देहरादून-सल्ट के विधायक सुरेंद्र जीना के आकस्मिक निधन से उनके पैतृक गांव नैटी सिमलधार ताड़ीखेत में भी लोग शोक संतप्त हैं। ग्रामीणों ने कहा कि 22 दिन पहले विधायक जीना गांव आए थे। गुरुवार सुबह अचानक निधन की सूचना मिलते ही ग्रामीणों की आंखें नम हो गईं। ग्रामीण बोले की प्रदेश ने एक होनहार नेता खो दिया। विधायक सुरेंद्र सिंह जीना की यादों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को रुला दिया।

Devi Maa Dental

गरमपानी-चार सवारियों समेत खाई में समाया सब्जी से भरा पिकअप, अंधेरे में चीख-पुकार सुन दौड़े ग्रामीण
प्रदेश कार्यालय में जब वह मीडिया के साथ जीना की यादों को साझा कर रहे थे। बोलते-बोलते उनकी आंखों में आंसू छलक पड़े। वह फफक पड़े और रुंधे गले से बोले, भाई साहब प्रणाम! की वह आवाज अब कभी नहीं सुनाई देगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह जीना के विधानसभा क्षेत्र में तीन बार गए थे। तीनों ही बार मैंने लोगों में जीना के प्रति भारी लगाव देखा। वह गरीब और कमजोर लोगों की चिंता करते थे। उनका जाना प्रदेश राजनीति के लिए बड़ी क्षति है।