चमोली-घर के बाहर खेल रहे बच्चे को उठा ले गया गुलदार, सुबह इस हाल में मिली लाश

चमोली-गुलदार का आंतक पहाड़ में बरकरार है। कई बार गुलदार के मानव पर हमले की खबरें आते रहती है। अब गुलदार के हमले की एक खबर चमोली से आ रही है। यहां आंगन में खेल रहे एक बच्चे को गुलदार उठा ले गया। इससे गांव में दहशत मच गई। लोग खोजबीन में जुटे तो बच्चे
 | 
चमोली-घर के बाहर खेल रहे बच्चे को उठा ले गया गुलदार, सुबह इस हाल में मिली लाश

चमोली-गुलदार का आंतक पहाड़ में बरकरार है। कई बार गुलदार के मानव पर हमले की खबरें आते रहती है। अब गुलदार के हमले की एक खबर चमोली से आ रही है। यहां आंगन में खेल रहे एक बच्चे को गुलदार उठा ले गया। इससे गांव में दहशत मच गई। लोग खोजबीन में जुटे तो बच्चे का कही सुराग नहीं मिला। आज सुबह बच्चे शव मिलने से परिजनों में कोहराम मच गया। वन विभाग को सूचित करने के बाद आगे की कार्यवाही की जा रही है।

Devi Maa Dental

चमोली-घर के बाहर खेल रहे बच्चे को उठा ले गया गुलदार, सुबह इस हाल में मिली लाश
पूरा मामला गुरुवार रात का है। यहां भ्याड़ी गांव के मजेटी तोक में गुलदार चार साल के एक नेपाली मूल के बच्चे को उठा ले गया। करीब 7.30 बजे नेपाली मूल के प्रेम बहादुर का चार वर्षीय पुत्र रमेश जैसे ही घर के बाहर आया।पहले से ही घात लगाकर बैठे गुलदार ने उस पर हमला कर दिया और जंगल में भाग गया। बच्चे को ले जाते ही परिजनों ने हो हल्ला शुरू कर दिया। शोरगुल सुनकर आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और बच्चे की खोजबीन में जुट गए।

इस बीच सूचना वन विभाग को भी दे दी गई। सूचना पर वन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे। रात भर ग्रामीणों और वन कर्मियों ने बच्चे की तलाश की लेकिन कही बच्चें का सुराग नहीं लगा। आज सुबह घटनास्थल से 400 मीटर दूर बच्चे का सिर बरामद हुआ। बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वनक्षेत्राधिकारी बीएस परमार ने कि कहा कि  बच्चे के परिजनों को तत्काल कुछ  राशि देकर मुआवजे के लिए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। कहा कि क्षेत्र में वनकर्मियों की गश्त बढाकर पिंजरा लगाने की कार्रवाई की जा रही है। अभी तक गुलदार कई पालतू पशुओं को अपना निवाला बना चुका है।

Bansal Saree