उत्तराखंड - Covid - 19 कोरोना से बचाव के लिए एक्सपर्ट्स ने दी डबल मास्क पहनने के सलाह 

 | 

कोविड-19 से बचने के लिए मास्क (Mask) लगाना बेहद जरूरी है , इस बीच कोरोना से बचाव में डबल मास्क पहनने की रणनीति ज्यादा कारगर साबित हो सकती है।  खासतौर पर तब जब आप सर्जिकल मास्क के ऊपर कपड़े का मास्क लगाएं। मास्क जितना करीब आपके चेहरे से फिट होगा, उतना ही मास्क और आपके चेहरे के बीच कम जगह बनेगी. ये वायरस को घुसने के लिए अंतराल या छेद को कम करेगा और सुरक्षा लेवल देगा । यह संक्रमण से बचने का सबसे आसान तरीका है। 

Devi Maa Dental

अमेरिकी सीडीसी की स्टडी में ये बात आई सामने : 

अमेरिका के सेंटर ऑफ डिजीज एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, कोरोना वायरस से बचने के लिए डबल मास्क एक बेहतर विकल्प हो सकता है. सीडीसी द्वारा हाल ही में एक स्टडी के अनुसार कोविड-19 से बचाव के लिए डबल मास्क अधिक सुरक्षित है । शोधकर्ताओं ने रिसर्च के लिए दो नमूनों को छह फीट की दूरी पर ये जांचने के लिए रखा कि कितने कण निकलते हैं. ऐसा देखा गया कि जब नमूनों को एक मास्क पहनाया गया, तब उसने 40 फीसद कणों को रोक दिया. इसके विपरीत, डबल मास्क वाली रणनीति कणों के फैलाव और ट्रांसमिशन को 80 फीसद तक अवरोद्ध कर सकी. सबसे अच्छे नतीजे उस वक्त पाए गए जब अच्छी तरह से फिट कपड़े के मास्क का इस्तेमाल सर्जिकल मास्क पर किया गया, जिससे ज्यादा प्रतिशत तक ट्रांसमिशन की दर को रोकने में सफलता मिली ।

Bansal Saree

सर्जिकल के ऊपर लगाएं कपड़े का मास्क :

अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने अपने अध्ययन में यह भी देखा कि सर्जिकल मास्क के ऊपर कपड़े का मास्क लगाना कहीं ज्यादा बेहतर है।  विशेषज्ञों का कहना है कि संक्रमित व्यक्ति के पास से गुजरने के बावजूद डबल मास्क पहनने की वजह से ड्रॉपलेट्स के आप तक पहुंचने की संभावना कम हो जाती है । स्टडी में पाया गया कि ये मास्क वायरस के फैलने की दर को कम करने में मदद करते हैं. सिंगल मास्क की बजाय डबल मास्क अधिक सुरक्षा प्रदान करते हैं और कोरोना वायरस के फैलाव को रोकते हैं । इससे संक्रमित बूंदों के प्रसार में और भी अधिक कमी आती है।