देहरादून- मौसम विभाग ने जारी किया 4 दिन बारिश का यलो अलर्ट, प्रदेश के इन मार्गों पर बंद हुआ आवागमन

 | 

उत्तराखंड में हुई भारी बरसात का असर अब आम जनजीवन पर पड़ रहा है। पिछले पांच दिनों से लगातार हो रही बरसात ने लोगों की परेशानियां बढ़ा दी है। खास तौर पर पर्वतीय जिलों में, जहां लगातार भूस्खलन की वजह से कई राज्य मोटर मार्ग और आंतरिक मोटर मार्ग प्रभावित हो गए हैं। फिलहाल अगले 4 दिन और भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

Bansal Saree

कुमाऊं में 64 से ज्यादा सड़के बंद 

कुमाऊं में लगभग 64 से ज्यादा सड़कें बंद हैं। पिछले 72 घंटे में एनएच 9 टनकपुर चंपावत मार्ग भी सुचारू नहीं हो सका है। पहाड़ों में भूस्खलन की वजह से कई पर्यटक रास्ते में फंसे हुए हैं। मैदानी इलाकों में कई जगह जलभराव हुआ है। बैगुल नदी का पानी सितारगंज के अरविंद नगर गांव में घुस गया है। यहां प्रशासनिक अधिकारियों को नाव लेकर गांव पहुंचना पड़ा है। इसी प्रकार ऋषिकेश बदरीनाथ हाईवे में भी तोता घाटी पर एक कार के ऊपर बोल्डर गिर गया जिससे नरेंद्र नगर महाविद्यालय में कार्यरत प्रोफेसर मनोज सुंद्रियाल की मौत हो गई।

Devi Maa Dental

वही नैनीताल जिले में बरसात की वजह से 3 राज्य मार्ग सहित 19 ग्रामीण मोटर मार्ग बंद है। जिला आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिले में 64 एमएम औसत वर्षा हुई है। जिसमें सबसे ज्यादा हल्द्वानी काठगोदाम में 100 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई है। इसके अलावा नैनीताल में 79 एमएम और धारी में 80 एमएम और मुक्तेश्वर में 66 एमएम बरसात रिकॉर्ड की गई है।

नैनीताल जिले के इन मार्गों को किया बंद

जिले में लगातार हो रही बरसात के चलते लोक निर्माण विभाग के निर्माण खंड नैनीताल निर्माण खंड रामनगर और पीएमजीएसवाई ज्योलीकोट और पीएमजीएसवाई काठगोदाम तथा अस्थाई खंडवा वाली और पीएमजीएसवाई हल्द्वानी के अंतर्गत आने वाले 3 राजमार्ग और 19 मोटर मार्ग पूरी तरह से बाधित है जिनको विभाग जेसीबी और सरकारी मशीनरी लगा कर खुलवा रहा है। वर्तमान में गौला नदी में 4536 क्यूसेक और कोसी नदी में 7441 क्यूसेक तथा नंदौर नदी में 1503 क्यूसेक पानी चल रहा है। आपदा प्रबंधन विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक राती घाट बेतालघाट राजमार्ग, तल्ली सेठी बेतालघाट राजमार्ग, और रानी बाग भीमताल राजमार्ग शहीद 19 आंतरिक मोटर मार्ग बंद है।