देहरादून- कोविड अस्पतालों की हालत पर बोले कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता बल्यूटिया, सरकार से की ये मांग

 | 

उत्तराखण्ड कांग्रेस के प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया ने हल्द्वानी के अस्पतालों में जगह ना मिल पाने से घरों में रह रहे बीमार लोगों के इलाज की व्यवस्था करने की मांग प्रदेश सरकार से की है। दीपक बल्यूटिया ने कहा कि अस्पतालों में बेड नही होने की वजह से बीमार लोग घरों में हैं, जिन्हें उपचार नहीं मिल पा रहा है और ना ही इनके उपचार की कोई व्यवस्था है। घरों में मजबूरन रह रहे बीमार को यदि आक्सीजन की ज़रूरत है तो अत्यंत जटिल प्रक्रिया के चलते बमुश्किल किसी भाग्यशाली को घण्टों लाइन में लगकर आक्सीजन मिल पाती है। ऐसे में मरीज की जानमाल का खतरा भी बना रहता है।

Devi Maa Dental

कंट्रोल रूम और डॉक्टर के पनेल की मांग

 सरकार को चाहिए कि सबसे पहले एक कंट्रोल रूम स्थापित करे जहाँ लोग फ़ोन पर अपनी परेशानी साझा कर सके साँथ एक डाक्टर का पनेल जो लोगों को फ़ोन पर परामर्श दे सके।ऐसे लोग जो अस्पताल जाने में असमर्थ हैं उनकी सहायता व निगरानी व इलाज सुनिश्चित कराने के लिए मोबाइल टीम गठित करे, जिसके पास इलाज से सम्बंधित आवश्यक इमर्जेंसी किट व दवाइयाँ हर समय हों। घरों में मजबूरीवश रह रहे लोगों को आक्सीजन की आवश्यकता पड़ने पर घरेलू गैस की तर्ज़ पर आक्सीजन सिलेण्डरों के वितरण व इलाज की व्यवस्था करे ताकि लोगों से समय इलाज मिल सके। 

Bansal Saree

मरीजों को मिले उनका अधिकार

दीपक बल्यूटिया ने कहा कि भारत के संविधान के अनुच्छेद 21 में प्राण एवं दैहिक स्वतंत्रता का अधिकार के प्रावधानो के तहत प्रत्येक व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधाओं को प्राप्त करने का अधिकार है। ये उनका मौलिक अधिकार है, जिसे घोषित आपातकाल में भी समाप्त नही किया जा सकता है। सरकार को चाहिए कि वो अपने कर्तव्य का बखूबी निर्वाहन करे ताकि लोगों के मौलिक अधिकारों की रक्षा की जा सके।