हल्द्वानी-बनभूलपुरा में महिलाओं को हो रही स्वास्थ्य सुविधा की समस्या, अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष ने लिखा सीएम को पत्र

हल्द्वानी- उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष मजहर नईम नवाब ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को एक पत्र लिखते हुए कहा कि केवल जहां कोरोना के मरीज मिले थे उन्हें सील किया जाय बाकि क्षेत्रों को सीलमुक्त करने की मांग की। उन्होंने कहा कि बाकि क्षेत्रों के सील होने से गर्भवती और बीमार महिलाओं को स्वास्थ्य
 | 
हल्द्वानी-बनभूलपुरा में महिलाओं को हो रही स्वास्थ्य सुविधा की समस्या, अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष ने लिखा सीएम को पत्र

हल्द्वानी- उत्तराखंड अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष मजहर नईम नवाब ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को एक पत्र लिखते हुए कहा कि केवल जहां कोरोना के मरीज मिले थे उन्हें सील किया जाय बाकि क्षेत्रों को सीलमुक्त करने की मांग की। उन्होंने कहा कि बाकि क्षेत्रों के सील होने से गर्भवती और बीमार महिलाओं को स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं मिल रही है। उन्होंने पत्र में लिखा कि डॉक्टर उनसे इलाज में भेदभाव कर रहे है। उन्हें लगातार शिकायतें मिल रही है। उन्होंने कहा कि इलाज के अभाव में कई मरीजों की मृत्यु मौत हो चुकी है।

krishna hospital

हल्द्वानी-बनभूलपुरा में महिलाओं को हो रही स्वास्थ्य सुविधा की समस्या, अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष ने लिखा सीएम को पत्र

हल्द्वानी-बनभूलपुरा में महिलाओं को हो रही स्वास्थ्य सुविधा की समस्या, अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष ने लिखा सीएम को पत्र

उपाध्यक्ष मजहर नईम नवाब ने कहा कि नैनीताल जिले को ऑरेन्ज जोन घोषित किया जाय। बनभूलपुरा में एक माह में केवल एक ही कोरोना पॉजिटिव मिला है जिसे स्वास्थ्य विभाग द्वारा पहले से ही क्वारंटीन था, उसकी भी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आयी है जोकि मोहल्ला बनभूलपुरा गली नंबर 3 से 8 का था। भारत सरकार के नियम केवल उसी क्षेत्र को ही सील किया जाये। ताकि समस्त मुस्लिम बाहुल्य बनभूलपुरा थाना क्षेत्र को पूरा बनभूलपुरा मोहल्ला नई बस्ती ,मोहल्ला इन्द्रानगर, मोहल्ला उजाला नगर, मोहल्ला गफूर बस्ती, मोहल्ला रेलवे बाजार को सीलमुक्त किया जाये। यहा कोई भी कोरोना पॉजिटिव मरीज़ नहीं है । उन्होंने कहा कि केवल उन्हीं क्षेत्रों को सील किया जाय जहां पहले मरीज मिले थे बाकि क्षेत्रों छूट दी जाय।

यहाँ भी पढ़े

हल्द्वानी -शहर में पहुंचने लगे पहाड़ जाने वाले प्रवासी, ऐसे तैयार किया जायेगा बाहर से आने वालों का डाटा

लालकुआं- आरोग्य सेतु एप में संदिग्ध की हलचल ने उड़ा दी लोगों की नींद, जाने क्यों गहराया कोरोना का खतरा