हल्द्वानी- पूर्व राज्यमंत्री हेमंत द्विवेदी पर दर्ज फर्जी FIR सुप्रीम कोर्ट ने की रद्द, राजनीति में फिर उभरेंगे योद्धा की तरह

हल्द्वानी-वर्ष 2018 में पूर्व दर्जा मंत्री हेमंत द्विवेदी पर लगे जमीन कब्जाने के फर्जी मुकदमे को आज सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस संजय किशन कौल और हरिकेश रॉय ने इस मामले को खारिज कर पूर्व दर्जा मंत्री हेमंत द्विवेदी को रहत दी है। इस मामले में भीमताल थाने में हेमंत द्विवेदी
 | 
हल्द्वानी- पूर्व राज्यमंत्री हेमंत द्विवेदी पर दर्ज फर्जी FIR सुप्रीम कोर्ट ने की रद्द, राजनीति में फिर उभरेंगे योद्धा की तरह

हल्द्वानी-वर्ष 2018 में पूर्व दर्जा मंत्री हेमंत द्विवेदी पर लगे जमीन कब्जाने के फर्जी मुकदमे को आज सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस संजय किशन कौल और हरिकेश रॉय ने इस मामले को खारिज कर पूर्व दर्जा मंत्री हेमंत द्विवेदी को रहत दी है। इस मामले में भीमताल थाने में हेमंत द्विवेदी के खिलाफ जमीन कब्जाने और धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसके बाद उनके करीबियों में खुशी का माहौल है। 

Bansal Saree

बता दें कि भीमताल निवासी जितेंद्र सिंह पुत्र सरदार संपूर्ण सिंह ने फर्जी तरीके से कुछ अधिकारियों की मिलीभगत से जमीन कब्जाने के आरोप में पूर्व दर्जा मंत्री हेमंत द्विवेदी के ऊपर भीमताल थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद यह मामला नैनीताल हाईकोर्ट पहुंचा। जहां से यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया। पराग त्रिपाठी सत्यजीत सहित 5 वकीलों के पैनल द्वारा एक एक करके सभी फर्जी दस्तावेजों को कोर्ट के समक्ष पेश किया जिसके बाद द्विवेदी पूरी तरह से पाक साफ निकले हैं। देश की सर्वोच्च न्यायपालिका ने उन लगाए गए बेबुनियाद आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए फैसला उनके पक्ष को सुनाया है और मामले को सिविल नेचर का करार दिया है। 

राजनीतिक करियर को खराब करना चाहते थे कई लोग

कोर्ट के इस फैसले से पुलिस-प्रशासन में बैठे षड्यंत्रकरियो के मुंह पर जोरदार तमाचा लगा है। इस घटना को मुद्दा बनाकर तराई बीज विकास निगम के पूर्व अध्यक्ष हेमंत द्विवेदी के राजनीतिक कैरियर को खराब करने की साजिश रची जा रही थी। लेकिन कोर्ट के फैसले ने षड्यंत्रकारियों के अरमानों पर पानी फेर दिया। पूर्व राज्य मंत्री हेमंत द्विवेदी ने न्यायपालिका का आभार प्रकट करते हुए कहा कि भारत के संविधान से देश के सवा करोड़ लोगों को न्यायपालिका से बल मिलता है। 

Devi Maa

सत्य की जीत होती है- हेमंत द्विवेदी

उन्होंने कहा कि मैं शुरू से कहते आया था सत्य की जीत हमेशा होगीं। आज इसी बात पर देश की सर्वोच्च न्यायपालिका ने मोहर लगा दी है। ऐसे में उन्हें विंस्टन चर्चिल की पंक्तियां याद आती है जिसमें उन्होंने लिखा है, सत्य अकाट्य है, द्वेष इस पर हमला कर सकता है, अज्ञानता इसका उपहास उड़ा सकती है लेकिन अंत सत्य ही रहता है। कोर्ट के फैसले ने पूरे षडयंत्र को दूध का दूध पानी का पानी कर दिया।