हल्द्वानी- गुरूग्राम से 1925 युवा पहुंचे हल्द्वानी, घरों को रवाना हुए तो छलके आंसू

हल्द्वानी-राज्य सरकार सभी फंसे प्रवासियों को वापस ला रही है। ऐसे में गुरुवार को गुरूग्राम से कुमाऊं भर के 1925 युवा हल्द्वानी पहुंचे। इन्हें लाने के लिए उत्तराखंड परिवहन निगम ने 46 बसें लगाई थी। इसमें 527 चम्पावत व 1398 युवक अल्मोड़ा जिले के रहने वाले हैं। सबसे पहले इन्हें गौलापार स्टेडियम में लाया गया।
 | 
हल्द्वानी- गुरूग्राम से 1925 युवा पहुंचे हल्द्वानी, घरों को रवाना हुए तो छलके आंसू

हल्द्वानी-राज्य सरकार सभी फंसे प्रवासियों को वापस ला रही है। ऐसे में गुरुवार को गुरूग्राम से कुमाऊं भर के 1925 युवा हल्‍द्वानी पहुंचे। इन्हें लाने के लिए उत्‍तराखंड परिवहन निगम ने 46 बसें लगाई थी। इसमें 527 चम्‍पावत व 1398 युवक अल्‍मोड़ा जिले के रहने वाले हैं। सबसे पहले इन्हें गौलापार स्‍टेडियम में लाया गया। यहां स्‍कैनिंग और मेडिकल परीक्षण किया गया। इसके बाद इन्हें भोजन कराया गया। फिर इन्‍हें अल्‍मोड़ा, चम्‍पावत जिलों के लिए रवाना कर दिया। वापस लौटे युवाओं को 14 दिनों तक होम क्‍वारंटाइन में रहना होगा।

Devi Maa Dental

हल्द्वानी- गुरूग्राम से 1925 युवा पहुंचे हल्द्वानी, घरों को रवाना हुए तो छलके आंसू
जैसे ही हल्द्वानी पहुंचे तो कई युवकों की आंखें भर आयी। इसके बाद सभी को उनके जिलों के लिए रवाना कर दिया गया। तो डेढ़ माह की मुश्किल उनके चेहरे की डबडबाई आंखों ने दिखा दिया कि अपना घर सबको प्यारा है। बताया जा रहा है कि इनमें अधिकांश युवक होटलों में जॉब करने वाले है। अभी गुरूग्राम से प्रवासियों का लाने का सिलसिला जारी है। फिलहाल देश भर में उत्तराखंड के करीब 1.70 लाख प्रवासी फंसे है जो अपने घर जाने चाहते है। जल्द ही सबकी वापसी होगी। सरकार ने सभी से धैय बनाये रहने की अपील की है।

यहाँ भी पढ़े

Bansal Saree

बाजपुर- NCERT किताबें नहीं हुई लागू तो इन पर गिरेगी गाज, पढ़े क्यों फ्रंट फुट पर नज़र आये शिक्षा मंत्री

भीमताल- बिजली विभाग के लाईन मैन का ये हाल देख ग्रामीणों में मची चीख-पुकार, बेसुद हुआ परिवार