रुडक़ी-लॉकडाउन के बीच संभलकर करें नेट बैंकिंग का इस्तेमाल, मैनेजर को लगा 4.53 लाख चूना

रुडक़ी-लॉकडाउन के बीच एक कंपनी के मैनेजर के खाते से 4.53 लाख की रकम साफ कर दी। जैसे ही इसकी जानकारी कंपनी मैनेजर को लगी तो उसके होश उड़ गये। आशंका है कि नेट बैंकिंग के जरिये खाते से रकम निकाली है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी
 | 
रुडक़ी-लॉकडाउन के बीच संभलकर करें नेट बैंकिंग का इस्तेमाल, मैनेजर को लगा 4.53 लाख चूना

रुडक़ी-लॉकडाउन के बीच एक कंपनी के मैनेजर के खाते से 4.53 लाख की रकम साफ कर दी। जैसे ही इसकी जानकारी कंपनी मैनेजर को लगी तो उसके होश उड़ गये। आशंका है कि नेट बैंकिंग के जरिये खाते से रकम निकाली है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार सिविल लाइंस कोतवाली क्षेत्र के अशोक नगर निवासी विनोद सिंह नेगी एक प्राइवेट कंपनी में मैनेजर हैं। गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के एक बैंक में खाता है। उनका यह खाता करीब 10 साल पुराना है। विनोद सिह नेगी नेट बैंकिंग का भी इस्तेमाल करते हैं। कुछ समय पहले उन्होंने खाते से अटैच मोबाइल नंबर बदला था।

Devi Maa Dental

रुडक़ी-लॉकडाउन के बीच संभलकर करें नेट बैंकिंग का इस्तेमाल, मैनेजर को लगा 4.53 लाख चूना

विगत 29 अप्रैल को उनके बैंक खाते से 4.53 लाख की रकम साफ हो गई। मोबाइल पर खाते से निकासी का मैसेज आने पर उन्हें इसका पता चला। पीडि़त ने बैंक जाकर मामले की जानकारी ली तो खाते से रकम की निकासी की पुष्टि हुई। आशंका है कि नेट बैंकिंग के द्वारा रकम दूसरे खाते में भेजी है। पीडि़त ने गंगनहर कोतवाली पुलिस को तहरीर दी है। जिसके बाद पुलिस जांच में जुट गई है।

Bansal Saree

यहाँ भी पढ़े

हल्द्वानी-उत्तराखंड में बढ़ी कोरोना मरीजों की सँख्या, अब यहा आया कोरोना का मामला

एक्शन में त्रिवेंद्र सरकार ,शुरू हुई घर वापसी,चेहरों पर लौटी,मुस्कान