देहरादून- प्रदेश के जिलाधिकारियों को परिवहन विभाग ने दिया बड़ा झटका, वापस ली ये सुविधा

देश के विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तराखंड के प्रवासियों को घरों तक पहुंचाने का बेड़ा उत्तराखंड परिवहन विभाग की बसों के उठाया था। परिवहन निगम की बसें दूसरे राज्यों से फंसे हुए लोगों को लाकर संबंधित जिलों तक छोड़ रही थी, लेकिन अब प्रदेश के विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों को परिवहन निगम ने बड़ा झटका
 | 
देहरादून- प्रदेश के जिलाधिकारियों को परिवहन विभाग ने दिया बड़ा झटका, वापस ली ये सुविधा

देश के विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तराखंड के प्रवासियों को घरों तक पहुंचाने का बेड़ा उत्तराखंड परिवहन विभाग की बसों के उठाया था। परिवहन निगम की बसें दूसरे राज्यों से फंसे हुए लोगों को लाकर संबंधित जिलों तक छोड़ रही थी, लेकिन अब प्रदेश के विभिन्न जिलों के जिलाधिकारियों को परिवहन निगम ने बड़ा झटका दिया है। दरअसल विभिन्न जिलों में यात्रियों को छोड़ने के लिए रोकी गई परिवहन निगम की बसों को अब वापस उनके डिपो भेजना होगा। कारण यह कि इन बसों का इस्तेमाल अब रेल से आने वाले यात्रियों को छोड़ने के लिए किया जाएगा।

Devi Maa Dental

बसों को वापस भेजे जिलाधिकारी

जानकारी मुताबिक प्रवासियों को उनके घर छोड़ने के लिए मंगवाई गई सरकारी बसों को प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अपने जिले में ही रोका जा रहा था। इससे निगम के पास बसों की कमी होनी शुरू हो गई। अब प्रदेश में दूसरों राज्यों से रेल के जरिये बड़ी संख्या में यात्री लाए जा रहे हैं। इन्हें रेलवे स्टेशन से संबंधित जिलों तक छोड़ने के लिए परिवहन निगम की बसों की जरूरत है।

देहरादून- प्रदेश के जिलाधिकारियों को परिवहन विभाग ने दिया बड़ा झटका, वापस ली ये सुविधा

Bansal Saree

इसे देखते हुए सचिव परिवहन शैलेश बगोली ने सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर जिलों में रोकी गई परिवहन निगम की बसों को तुरंत छोड़ने को कहा गया है। यह भी कहा गया है कि जिलों में आने वाले यात्रियों को उनके गंतव्य तक छोड़ने के लिए प्राइवेट बसों और अन्य वाहनों का प्रयोग किया जाए।

यहाँ भी पढ़े

हल्द्वानी-बालाजी सर्जिकल दे रहा उचित दामों पर कोरोना से लडऩे वाली किट, पढिय़े कैसे खरीद सकते है आप

हल्द्वानी-गुजरात से 1.60 लाख रुपये में बस बुक कर आये प्रवासी, हल्द्वानी पहुंचे तो अधिकारी बोले वापस जाओ