इंग्लैंड को अपनी बल्लेबाजी में बदलाव करने की जरूरत : हुसैन

होबार्ट, 13 जनवरी (आईएएनएस)। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन को लगता है कि शीर्ष क्रम के बल्लेबाज एशेज में बहुत रक्षात्मक रहे हैं। उन्होंने इंग्लैंड के बल्लेबाजों से सिडनी टेस्ट में बेन स्टोक्स, जॉनी बेयरस्टो और जैक क्रॉली की पारी से कुछ सीखने की सलाह दी।
 | 
इंग्लैंड को अपनी बल्लेबाजी में बदलाव करने की जरूरत : हुसैन होबार्ट, 13 जनवरी (आईएएनएस)। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन को लगता है कि शीर्ष क्रम के बल्लेबाज एशेज में बहुत रक्षात्मक रहे हैं। उन्होंने इंग्लैंड के बल्लेबाजों से सिडनी टेस्ट में बेन स्टोक्स, जॉनी बेयरस्टो और जैक क्रॉली की पारी से कुछ सीखने की सलाह दी।

इंग्लैंड, जिसने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) में चौथा एशेज टेस्ट ड्रॉ कराने के लिए बल्ले से बेहतर प्रदर्शन किया, अब वह शुक्रवार से होबार्ट में शुरू होने वाले अंतिम टेस्ट में गर्व के साथ खेलना चाहेगा।

हुसैन ने डेली मेल में लिखा, जिस तरह से सिडनी में उस पहली पारी में बेन स्टोक्स और जॉनी बेयरस्टो ने जवाबी हमला किया और दूसरी पारी में जैक क्रॉली ने शानदार प्रदर्शन किया, उससे इंग्लैंड के बल्लेबाजों को कुछ सीखने की जरूरत है।

Bansal Saree

रिकी पोंटिंग ने कहा है कि जब बल्लेबाज रक्षात्मक होते हैं तो महान गेंदबाज इसे बहुत पसंद करते हैं और इसमें कोई संदेह नहीं है कि इंग्लैंड का शीर्ष क्रम इस एशेज में बहुत रक्षात्मक रहा है।

हुसैन ने उल्लेख किया कि सिडनी में ड्रॉ के बावजूद, इंग्लैंड को अभी भी अपनी बल्लेबाजी के साथ चीजों को ठीक करने की जरूरत है।

प्लेइंग इलेवन के बारे में बात करते हुए हुसैन ने कहा कि बेन स्टोक्स और जॉनी बेयरस्टो की फिटनेस महत्वपूर्ण होगी, क्योंकि दोनों चोटिल हैं। अगर वह गेंदबाजी नहीं कर सकते हैं, तो यह टीम के संतुलन को बहुत प्रभावित करेगा, लेकिन फिर भी उन्हें बल्लेबाज के रूप में खेलना चाहिए। यही बात बेयरस्टो पर भी लागू होती है। अगर वह नहीं खेल पाते हैं तो सैम बिलिंग्स को टीम में जगह मिल सकती है।

Devi Maa

--आईएएनएस

आरजे/आरजेएस