भारोत्तोलक मीराबाई और निशानेबाज ओलंपिक तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे

मुंबई, 15 जुलाई (आईएएनएस)। टोक्यो ओलंपिक को शुरू होने में अब महज कुछ ही समय शेष रह गया है और भारोत्तोलक मीराबाई चानु और निशानेबाज इसकी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुट गए हैं।
 | 
भारोत्तोलक मीराबाई और निशानेबाज ओलंपिक तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे मुंबई, 15 जुलाई (आईएएनएस)। टोक्यो ओलंपिक को शुरू होने में अब महज कुछ ही समय शेष रह गया है और भारोत्तोलक मीराबाई चानु और निशानेबाज इसकी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुट गए हैं।

भारत में जो एथलीट हैं वह पहले से ही आईसोलेशन में है और 17 जुलाई को रवाना होने से पहले कोरोना टेस्ट के लिए तैयार हैं। ओलंपिक दल को 18 जुलाई से ओलंपिक विलेज में शामिल होने की इजाजत है।

Bansal Saree

भारत से टोक्यो जाने वाले खिलाड़ियों को तीन दिनों तक क्वारंटीन में रहना होगा। भारतीय एथलीट जो विदेश से टोक्यो पहुंचेंगे उन्हें क्वारंटीन में रहने की जरूरत नहीं होगी।

भारतीय पुरुष और महिला टीमें सहित कुल 70 खिलाड़ियों का पहला दल नई दिल्ली से 17 जुलाई को टोक्यो के लिए रवाना होगा।

Devi Maa Dental

भारोत्तोलक मीराबाई और शूटर राही सरनोबात ओलंपिक तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुट गई हैं।

मीराबाई अमेरिका के कनकास शहर में ट्रेनिंग कर रही हैं। भारतीय खेल प्राधिकरण ने गुरुवार को मीराबाई की ट्रनिंग सीजन के फोटो और वीडियो पोस्ट किए। सरकार ने अमेरिका में दो महीने तक ट्रेनिंग के लिए 40 लाख रूपये खर्च किए हैं।

मीराबाई भारत की एकमात्र भारोत्तोलक हैं जिन्होंने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है और वह महिला 49 किग्रा में पदक की प्रबल दावेदार हैं।

क्रोएशिया के जागरेब में शूटर भी फाइनल ट्रेनिंग कर रहे हैं। निशानेबाज पहले से एक महीने से अधिक समय से बायो बबल में है लेकिन इन्हें टोक्यो पहुंचने पर भी कुछ समय तक क्वारंटीन में रहना होगा।

भारतीय मुक्केबाजी टीम इटली से टोक्यो पहुंचेगी जहां वे पिछले महीने से कैंप कर रहे हैं जबकि भालाफेंक एथलीट नीरज चोपड़ा स्वीडन से टोक्यो रवाना होंगे।

--आईएएनएस

एसकेबी/एएनएम