ओलंपिक में भारत के पदक जीतने पर खुशी मिलेगी : शाइनी विल्सन

तिरुवनंतपुरम, 19 जुलाई (आईएएनएस)। ओलंपिक में चार बार शामिल हो चुकीं और ओलंपिक में 800 मीटर के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली भारत की पहली महिला एथलीट शाइनी विल्सन ने कहा कि अगर भारत टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने में सफल रहता है तो उन्हें काफी खुशी होगी।
 | 
ओलंपिक में भारत के पदक जीतने पर खुशी मिलेगी : शाइनी विल्सन तिरुवनंतपुरम, 19 जुलाई (आईएएनएस)। ओलंपिक में चार बार शामिल हो चुकीं और ओलंपिक में 800 मीटर के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली भारत की पहली महिला एथलीट शाइनी विल्सन ने कहा कि अगर भारत टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने में सफल रहता है तो उन्हें काफी खुशी होगी।

विल्सन ने कहा है कि टोक्यो में भारतीय एथलेटिक्स टीम के पदक जीतने की उम्मीद ज्यादा है। उन्होंने कहा कि वह टीम को अपनी शुभकामनाएं देती हैं।

Bansal Saree

विल्सन ने आईएएनएस से फोन पर कहा, मुझे पूरी उम्मीद है, विशेषकर भालाफेंक और ऊंची कूद में भारत के पदक जीतने की काफी उम्मीद है। हमें खुशी होगी अगर भारत पदक जीतने में सफल रहा।

उन्होंने कहा, अगर आप मुझसे पूछें कि किससे मुझे ज्यादा खुशी मिली तो मैं कहूंती कि जो हमें पीटी ऊषा और एमडी वलसाम्मा ने समर्थन दिया उससे मैं बहुत खुश हुई।

Devi Maa Dental

विल्सन ने कहा, हमने यह दिखाया कि अगर समर्थन मिले तो केरल की कोई भी महिला एथलेटिक्स में ऊंचाई हासिल कर सकती है। हमें यह देखकर खुशी होती है कि केरल की कई युवा लड़कियां एथलेटिक्स में शामिल हो रही हैं।

विल्सन ने कहा कि उन्होंने एथलेटिक्स और विभिन्न क्षेत्रों से समर्थन और प्रार्थनाओं के कारण सब कुछ हासिल किया है।

उन्होंने कहा कि यदि उनके समय में मिश्रित रिले स्पर्धाएं होतीं, तो भारत ओलंपिक में पदक जीत सकता था।

विल्सन ने साथ ही उम्मीद जताई कि भारत निशानेबाजी और हॉकी में भी इस बार पदक जीत सकता है।

विल्सन 14 वर्षो तक 800 मीटर में राष्ट्रीय चैंपियन रही हैं और उन्होंने 75 से ज्यादा बार अंतरराष्ट्री टूर्नामेंटों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

उन्हें 1985 में अर्जुन अवॉर्ड तथा 1998 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

--आईएएनएस

एसकेबी/एएनएम