अगर आप भी दूसरे राज्‍यों में फंसे हैं, तो जान लें श्रमिक स्‍पेशल ट्रेन से जुड़ी ये जानकारी 

लॉकडाउन की वजह से देश के अलग-अलग शहरों में प्रवासी मजदूर, छात्र और पर्यटक फंसे हुए हैं। केंद्र सरकार ने इस संकट की घड़ी में प्रवासी मजदूरों और छात्रों के लिए स्पेशल ट्रेन (Special train) चलाकर बड़ी राहत दी है। राज्यों के अनुरोध करने के बाद केंद्र सरकार (central government) ने शुक्रवार से अलग-अलग राज्यों
 | 
अगर आप भी दूसरे राज्‍यों में फंसे हैं, तो जान लें श्रमिक स्‍पेशल ट्रेन से जुड़ी ये जानकारी 

लॉकडाउन की वजह से देश के अलग-अलग शहरों में प्रवासी मजदूर, छात्र और पर्यटक फंसे हुए हैं। केंद्र सरकार ने इस संकट की घड़ी में प्रवासी मजदूरों और छात्रों के लिए स्पेशल ट्रेन (Special train) चलाकर बड़ी राहत दी है। राज्यों के अनुरोध करने के बाद केंद्र सरकार (central government) ने शुक्रवार से अलग-अलग राज्यों के लिए स्पेशल ट्रेन की अनुमति दी है। इससे यूपी, बिहार, झारखंड समेत कई राज्यों के प्रवासी मजदूर व छात्र ट्रेन के माध्यम से अपने घर जा सकेंगे। इसके लिए कुछ जरूरी जानकारी होना जरूरी है।
अगर आप भी दूसरे राज्‍यों में फंसे हैं, तो जान लें श्रमिक स्‍पेशल ट्रेन से जुड़ी ये जानकारी स्पेशल ट्रेन में सफर करने से पहले कराना होगा रजिस्ट्रेशन 
ट्रेन में वही यात्री सफर कर पाएंगे जिनका रजिस्ट्रेशन (registration) हुआ है। इसके लिए ट्रेन में सफर करने वाले लोगों की एक लिस्ट तैयार की जाएगी, जिसके अनुसार ही लोग सफर कर पाएंगे। इसके लिए प्रवासी मजदूरों व छात्रों को अपने गृह राज्यों में आवेदन करना होगा। इससे संबंधित नोडल अधिकारी (Nodal officer) जो सूची तैयार करेंगे, वह रेलवे को भेजी जाएगी। रेलवे सूची के सभी यात्रियों को सूचना भेजेगा, ताकि यात्री समय से स्टेशन पर पहुंच सकें।

Bansal Saree

सफर करने से पहले की जाएगी स्क्रीनिंग
ट्रेन में सफर करने से पहले सभी यात्रियों (passengers) की स्क्रीनिंग की जाएगी। यात्रियों के कोरोना स्क्रीनिंग (Corona screening) में पास होने के बाद ही ट्रेन में बैठने की अनुमति मिलेगी। यदि जांच में किसी तरह की आशंका होने पर यात्री को तुरंत अस्पताल भेज दिया जाएगा। जिसके बाद क्वॉरेंटाइन काल (Quarantine period) पूरा करने के बाद ही दोबारा वापसी होगी।

टिकट खरीदने की आवश्यकता नहीं
रेलवे ने यह साफ कर दिया है कि यात्रियों को अपने पास से कुछ भी खरीदने की आवश्यकता नहीं है। उनके खर्च राज्य सरकारें वहन करेंगी। यात्रा दौरान प्रवासी मजदूरों व छात्रों के पास मास्क (Masks) होना जरूरी है। इसके बिना वे ट्रेन में यात्रा नहीं कर सकेंगे। इसके अलावा यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन भी करना होगा।

Devi Maa

ये पांच स्‍पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी
रेलवे की ओर से पांच ट्रेनों का कार्यक्रम (Schedule of trains) तय किया गया है। ये ट्रेन नासिक से लखनऊ, अलुवा से भुवनेश्वर, कोटा से हटिया, जयपुर से पटना और नासिक से भोपाल तक का सफर तय करेंगी। प्रत्येक ट्रेन में एक हजार से 12 सौ यात्री सफर कर सकेंगे।

यहाँ भी पढ़े

Lockdown: शराब की ऑनलाइन बिक्री की तैयारी में, इन कंपनियों की मदद से की जाएगी होम डीलिवरी

BAREILLY: निर्माण कार्यों में हो रही है देरी, कोरोना के डर से नहीं आ रहे हैं मजदूर