अब ओडिशा में डेंगू का कहर

भुवनेश्वर, 16 जुलाई (आईएएनएस)। इस समय लोग कोविड महामारी से ठीक भी नहीं हुए हैं, तो वहीं राजधानी भुवनेश्वर समेत ओडिशा के कुछ इलाकों में डेंगू के खतरे ने मुसीबत और बढ़ा दी है।
 | 
अब ओडिशा में डेंगू का कहर भुवनेश्वर, 16 जुलाई (आईएएनएस)। इस समय लोग कोविड महामारी से ठीक भी नहीं हुए हैं, तो वहीं राजधानी भुवनेश्वर समेत ओडिशा के कुछ इलाकों में डेंगू के खतरे ने मुसीबत और बढ़ा दी है।

जन स्वास्थ्य निदेशक निरंजन मिश्रा ने शुक्रवार को यहां बताया कि जनवरी से अब तक खुर्दा जिले में डेंगू के 113 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 103 मामलों की पहचान जुलाई में ही हुई है। हालांकि, स्थिति पिछले साल की तरह बदतर नहीं है।

Devi Maa Dental

डेंगू का पता लगाने के लिए एलिसा टेस्ट से गुजरना पड़ता है। उन्होंने लोगों से अपील की, जिनमें डेंगू के लक्षण हैं, वे केवल सरकारी सुविधाओं पर टेस्ट के लिए जाएं।

निदेशक ने बताया कि राजधानी अस्पताल, क्षेत्रीय चिकित्सा अनुसंधान केंद्र (आरएमआरसी), एम्स - भुवनेश्वर और जिला मुख्यालय अस्पताल (डीएचएच), खुर्दा में चार सरकारी टेस्ट सुविधाएं हैं।

Bansal Saree

उन्होंने कहा कि ये चार केंद्र डेंगू टेस्ट के सभी मानक मानदंडों का पालन कर रहे हैं और लोग इस सुविधा का मुफ्त में लाभ उठा सकते हैं जबकि निजी प्रयोगशालाएं मानकों का पालन नहीं कर रही हैं।

अब तक डेंगू के मामले चंद्रशेखरपुर, सैलाश्री विहार, नीलाद्री विहार, यूनिट-आठवीं, कल्पना चौक समेत शहर के अन्य इलाकों से सामने आ चुके हैं।

सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों और भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने बीमारी को नियंत्रित करने के लिए क्षेत्र में निवारक उपाय करना शुरू कर दिया है।

जन स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों से आग्रह किया कि वे हर दिन एयर कूलर, पानी के बर्तन और रेफ्रिजरेटर के पीछे के पानी के कंटेनरों में पानी बदलें और अपने घरों के आसपास के क्षेत्र की सफाई बनाए रखें।

इस बीच, राज्य ने शुक्रवार को कोविड -19 के 64 मौतों और 2,070 ताजा मामलों की सूचना दी है। इसके साथ ओडिशा में कुल कोविड-19 मौत के मामले 4,925 पर पहुंच गए।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम