अफ्रीका में कोविड से होने वाली मौतों पर डब्ल्यूएचओ ने जताई चिंता

नैरोबी, 16 जुलाई (आईएएनएस)। अफ्रीका में हाल के हफ्तों में कोविड से होने वाली मौतों में 40 फीसदी तक का इजाफा हुआ है। यह वर्तमान समय में पूरे महाद्वीप में फैल रही तीसरी लहर की गंभीरता का प्रमाण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है।
 | 
अफ्रीका में कोविड से होने वाली मौतों पर डब्ल्यूएचओ ने जताई चिंता नैरोबी, 16 जुलाई (आईएएनएस)। अफ्रीका में हाल के हफ्तों में कोविड से होने वाली मौतों में 40 फीसदी तक का इजाफा हुआ है। यह वर्तमान समय में पूरे महाद्वीप में फैल रही तीसरी लहर की गंभीरता का प्रमाण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है।

सिन्हुआ समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार को अपने एक बयान में अफ्रीका में डब्ल्यूएचओ के क्षेत्रीय निदेशक मत्स्यदिसो मोएती ने कहा कि महाद्वीप में महत्वपूर्ण देखभाल सुविधाओं में ऑक्सीजन और जनशक्ति की पर्याप्त कमी ने घातक घटनाओं को बढ़ावा दिया है।

Bansal Saree

मोएती ने कहा, पिछले पांच हफ्तों में मौतों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। यह एक स्पष्ट चेतावनी संकेत है कि सबसे अधिक प्रभावित देशों के अस्पताल एक ब्रेकिंग पॉइंट पर पहुंच रहे हैं।

वह आगे कहती हैं कि गंभीर रूप से बीमार कोविड रोगियों को आपातकालीन देखभाल प्रदान करने के लिए स्वास्थ्य कार्यकतार्ओं, उपकरणों और बुनियादी ढांचे की भारी कमी ने अफ्रीका में मृत्यु दर को कम करने के प्रयासों को कमजोर कर दिया है।

Devi Maa Dental

अफ्रीका रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (अफ्रीका सीडीसी) के अनुसार, महाद्वीप में मामलों की संख्या बढ़कर 6,072,120 हो गई है, जबकि होने वाली मौतें 154,602 हैं।

मोएती कहती हैं कि पिछले सप्ताह दर्ज की गई नई मौतों में नामीबिया, दक्षिण अफ्रीका, ट्यूनीशिया, युगांडा और जाम्बिया का योगदान 83 प्रतिशत है। इस वक्त यहां मृत्यु दर 2.2 फीसदी पर बनी हुई है, जबकि वैश्विक औसत 2.6 है।

उन्होंने कहा कि अफ्रीका में कोविड संक्रमण और मौतों में वृद्धि नए वेरिएंट्स और सुरक्षा उपायों जैसे मास्क पहनना, हाथों को बार-बार धोना, स्वच्छता का पर्याप्त ख्याल रखना के प्रति लोगों के उदासीन रवैये के चलते हुई है।

--आईएएनएस

एएसएन/आरजेएस