कविता-मुझको तेरी कसम

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसमें बाल, युवा और वरिष्ठ सभी वर्गों के लोग प्रतिभाग कर सकते हैं। प्रतियोगिता में मेरे प्यारे वतन विषय पर देशभक्ति से ओत.प्रोत स्वरचित कविता लिखकर 20 अगस्त तक भेजनी
 | 
कविता-मुझको तेरी कसम

उत्तराखंड के लोकप्रिय वेब पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की ओर से स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आॅनलाइन कविता प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसमें बाल, युवा और वरिष्ठ सभी वर्गों के लोग प्रतिभाग कर सकते हैं। प्रतियोगिता में मेरे प्यारे वतन विषय पर देशभक्ति से ओत.प्रोत स्वरचित कविता लिखकर 20 अगस्त तक भेजनी है। इसके तहत जवाहर नवोदय विद्यालय नैनीताल के छात्र करन शर्मा की शानदार कविता पढ़िए-

Bansal Saree

मेरे प्यारे वतन, तुझको मेरा नमन
मुझको तेरी कसम
रक्षा करूंगा तेरी
जैसे तू मेरा सनम

सीने में जलती आग है
तुझ पर सिमटने के लिए
ये दिल बड़ा बेताब है।
लड़ता रहूंगा तब तक
जब तक है मुझमें दम।

वतन पर शहीद होने का
नहीं होगा कोई गम
ख्वाहिश यही है मेरी
मिले सिर्फ तिरंगे का कफन।