World No Tobacco Day 2021 : क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड नो टोबैको डे , क्या है इस साल  की थीम?

 | 

31 मई को दुनिया भर में हर साल विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है । इस दिन की शुरुआत विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के द्वारा इसलिए की गई ताकि लोगों को तंबाकू का सेवन करने के कारण होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक किया जा सके। तंबाकू का सेवन जानलेवा हो सकता है। ये जानते हुए भी दुनियाभर में बड़ी संख्या में लोग किसी न किसी रूप में तंबाकू (बीड़ी, सिगरेट, गुटखा आदि) का सेवन कर रहे हैं और ऐसे में उनपर कई जानलेवा बीमारियों का खतरा मंडराने लगता है। इसीलिए लोगों को तंबाकू के सेवन से रोकने और उससे होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करने के लिए हर साल 31 मई को दुनियाभर में विश्व तंबाकू निषेध दिवस यानी वर्ल्ड नो टोबैको डे मनाया जाता है। आपको बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के द्वारा 1987 में इस दिन को प्रभाव में लाया गया था। 31 मई 1988 को WHO42.19 प्रस्ताव पास हुआ, जिसके बाद यह वर्ल्ड नो टोबैको डे के नाम से हर साल 31 मई को मनाया जाने लगा।

Devi Maa Dental

इसलिए मनाया जाता है ये दिन

इस दिन को मनाये जाने का उद्देश्य लोगों को ये समझाना है कि तंबाकू खाना और धूम्रापान करना स्वास्थ्य के लिए वाकई बहुत हानिकारक है। इसके सेवन से उनके स्वास्थ्य को गंभीर खतरा है और कई तरह की जानलेवा बीमारियां शरीर में घर करती हैं। इसलिए इसके सेवन से हमेशा बचना चाहिए।  जो लोग तंबाकू का सेवन कच्ची तंबाकू, बीड़ी-सिगरेट, पान मसाला या हुक्का किसी भी तरह से कर रहे हैं उनको इसके नुकसान के बारे में समझाते हुए तंबाकू छोड़ने के लिए तो उनको प्रेरित किया ही जाता है। उन युवाओं को भी इस बारे में समझाया जाता है जो इसकी शुरुआत कर सकते हैं। 

Bansal Saree

इस साल की थीम

विश्व स्वास्थ संगठन के द्वारा हर वर्ष वर्ल्ड नो टोबैको डे के लिए एक विशेष थीम तय की जाती है। इस साल यानी साल 2021 का थीम है 'कमिट टू क्वीट' (Commit to Quit) यानी 'छोड़ने के लिए प्रतिबद्ध'। इस दिन की थीम युवाओं पर केंद्रित हैं। हम सभी यह बात जानते हैं कि आज की युवा पीढ़ी कितनी तेजी से तंबाकू निर्मित पदार्थों का सेवन करने में आगे बढ़ रही है। स्मोकिंग,हुक्का, कच्ची तंबाकू, पान मसाला आदि पदार्थ तंबाकू से कहीं ना कहीं जरूर तैयार किए जाते हैं और युवाओं के द्वारा इसका बड़े पैमाने पर सेवन भी किया जा रहा है जो उनके स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा है ।इस बात को ध्यान में रखते हुए विश्व स्वास्थ संगठन द्वारा इस बार वर्ल्ड नो टोबैको डे 2020 की थीम "युवाओं को इंडस्ट्री के बहकावे से बचाते हुए, उन्हें तंबाकू और निकोटीन का उपयोग करने से रोकना है।