हल्दी का ज्यादा इस्तेमाल कर सकता है  नुकसान, किडनी में पत्‍थर और पेट हो सकता है खराब

 | 

कोरोनाकाल में इम्यूनिटी को बढ़ाने वाली चीजों को खूब इस्तेमाल हुआ। इन चीजों में काढ़ा, हल्दी, लहसुन, काली मिर्च और लौंग के अलावा कई चीजे शामिल हैं।आज हम इन सब इम्यूनिटी बूस्टर चीजों में से हर एक के किचन में पाए जाने वाली हल्दी की बात करेंगे। हल्दी के अंदर एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह गुण आपको बीमारियों से बचाने का काम करते हैं। इसके इन्हीं गुणों की वजह से हल्दी अधिक प्रसिद्ध भी है। लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि किसी भी चीज का बहुत ज्यादा इस्तेमाल सेहत के लिए हानिकारक होता है। इसी वजह से आप ये बात भी जान लें कि हल्दी का बहुत ज्यादा यूज आपकी सेहत को फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। 

Devi Maa Dental

एक्सपर्ट बताते हैं कि रोजाना एक टी स्पून हल्दी का सेवन इसके लाभ उठाने के लिए काफी है।वहीं अगर आप इसका अधिक सेवन करते हैं तो इससे आपको पेट से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। साथ ही इसके कारण आपको चक्कर भी आ सकते हैं। हालांकि यह ज्यादातर मामलों में तब देखा जाता है जब कोई व्यक्ति इसका सेवन कैप्सूल या सप्लीमेंट के रूप में करता है। इसलिए एक्सपर्ट भी अक्सर हल्दी को नेचुरल फॉर्म में लेने की सलाह देते हैं। उनका मानना है कि हल्दी के संपूर्ण लाभ हासिल करने का यही एकमात्र तरीका है।जानिए हल्दी के ज्यादा इस्तेमाल से सेहत को क्या क्या नुकसान हो सकते हैं।

पेट से संबंधित समस्या

Bansal Saree

हल्दी की तासीर बहुत ज्यादा गरम होती है। ऐसे में अगर आप हल्दी का अधिक सेवन करते हैं तो इससे आपके पेट में जलन की समस्या पैदा हो सकती है। इसके अलावा पेट में सूजन के अलावा ऐंठन की समस्या का भी कारण बन सकती है। इसलिए केवल उचित मात्रा में ही हल्दी का सेवन सही रहेगा।

बढ़ सकता है किडनी में पथरी का खतरा

हल्दी का आवश्यकता से अधिक सेव करने से किडनी में पथरी की समस्या हो सकती है। दरअसल हल्दी के अंदर ऑक्सलेट मौजूद होता है। यह ऑक्सलेट कैल्शियम को शरीर में घुलने के बजाय बांधने लगते हैं। जिससे कैल्शियम अघुलशील होने लगता है। यह कि़डनी में पथरी का एक अहम कारण बनता है। 

दस्त या उल्टी

हल्दी का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करने से आपको डाइजेशन में भी दिक्कत हो सकती है। जिसके कारण उल्टी और लूज मोशन हो सकता है।