हर बार के विज्ञान अन्वेषण से दुनिया में सुधार की संभावना पैदा होगी

बीजिंग, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस की गतिविधियां 11 सितंबर को देश भर में आयोजित हुईं। जो कि 17 सितंबर तक चलेंगी। इस बार के चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस का विषय चीन का नया शताब्दी लक्ष्य - उच्च स्तरीय वैज्ञानिक और तकनीकी आत्मनिर्भरता है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए चीनी एसोसिएशन ने कहा कि 10 सितंबर की शाम 4 बजे तक पूरे चीन में इस संबंध में 12 हजार से अधिक गतिविधियां आयोजित हुईं, जबकि 30 लाख से अधिक लोगों ने इनमें भाग लिया।
 | 
हर बार के विज्ञान अन्वेषण से दुनिया में सुधार की संभावना पैदा होगी बीजिंग, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस की गतिविधियां 11 सितंबर को देश भर में आयोजित हुईं। जो कि 17 सितंबर तक चलेंगी। इस बार के चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस का विषय चीन का नया शताब्दी लक्ष्य - उच्च स्तरीय वैज्ञानिक और तकनीकी आत्मनिर्भरता है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए चीनी एसोसिएशन ने कहा कि 10 सितंबर की शाम 4 बजे तक पूरे चीन में इस संबंध में 12 हजार से अधिक गतिविधियां आयोजित हुईं, जबकि 30 लाख से अधिक लोगों ने इनमें भाग लिया।

इस साल चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की स्थापना की 100वीं वर्षगांठ है और चीन की 14वीं पंचवर्षीय परियोजना का शुरूआत वर्ष भी। साथ ही यह आधुनिक समाजवादी देश के संपूर्ण निर्माण के लिये नए दौर का आरंभ भी है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इस 28 मई को चीनी विज्ञान अकादमी और चीनी इंजीनियरिंग अकादमी के अकादमीशियनों के सम्मेलन और चीनी विज्ञान और प्रौद्योगिकी एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के सम्मेलन में भाग लेते हुए महत्वपूर्ण भाषण दिया। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि चीन तकनीकी आत्मनिर्भरता को राष्ट्रीय विकास के लिए रणनीतिक समर्थन के रूप में लेने पर जोर देता है। सीपीसी की स्थापना की 100वीं वर्षगांठ मनाने वाले सम्मेलन में उन्होंने चीन में उच्च स्तरीय वैज्ञानिक और तकनीकी को बढ़ाने की अपील की।

Bansal Saree

विज्ञान लोकप्रियकरण कार्यों से विज्ञान की भावना को आगे बढ़ाया जाएगा, वैज्ञानिक व तकनीक ज्ञान को लोकप्रिय बनाया जाएगा, वैज्ञानिक सपनों व महत्वाकांक्षाओं को प्रोत्साहित किया जाएगा और लोगों की वैज्ञानिक गुणवत्ता में व्यापक सुधार किया जाएगा। ताकि चीन में उच्च स्तरीय वैज्ञानिक और तकनीकी आत्मनिर्भरता को हासिल करने के लिये मजबूत समर्थन दिया जा सके।

इस बार के चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस के मौके पर पूरे चीन में अधिक संयुक्त गतिविधियां आयोजित हुईं। इनमें कार्बन डाईऑक्साइड उत्सर्जन व कार्बन तटस्थता समेत पारिस्थितिक पर्यावरण विज्ञान लोकप्रियकरण, युवाओं के लिये विशेष विज्ञान व प्रौद्योगिकी शिक्षा, विज्ञान व प्रौद्योगिकी संसाधन लोकप्रियकरण, जल विज्ञान लोकप्रियकरण, ग्रामीण पुनरुद्धार पर विज्ञान लोकप्रियकरण, स्वच्छता व स्वास्थ्य विज्ञान लोकप्रियकरण और आपात विज्ञान लोकप्रियकरण आदि मुख्य भाग शामिल हैं।

Devi Maa Dental

पेइचिंग स्थित चीनी विज्ञान और प्रौद्योगिकी संग्रहालय में चीनी अंतरिक्ष स्टेशन के थ्यानह कोर केबिन और चौथी पीढ़ी के चीनी परमाणु ऊर्जा संयंत्र के उच्च तापमान गैस-शीतल रिएक्टर आदि चीन के नवीनतम तकनीकी नवाचार प्रदर्शित किए गए। इस संग्रहालय में बच्चों ने सौर ऊर्जा स्टेशन का मॉडल बनाया और ऊर्जा संरक्षण की वैज्ञानिक विधि की खोज की। इन बच्चों ने कहा कि इन मॉडलों पर रोशनी का पीछा करने वाला रोशनी संवेदक लगाया गया है। जब सौर पैनल का उपयोग करते हुए रोशनी को लक्षित किया गया, तो इन मॉडलों ने रोशनी से बिजली तैयार की। एक बच्चे ने कहा कि इस तरह से कोयले और पेट्रोलियम आदि जीवाश्म ईंधन के उपयोग को कम किया जा सकेगा। और पृथ्वी के पर्यावरण की रक्षा हो सकेगी।

इसके साथ ही चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस के दौरान दुनिया के विभिन्न स्थलों में अधिक अन्य ऑनलाइन-ऑफलाइन गतिविधियां विशेषकर पारिस्थितिक संरक्षण विज्ञान को लोकप्रिय बनाने वाली गतिविधियां आयोजित होंगी।

गौरतलब है कि वर्ष 2004 में चीनी राष्ट्रीय विज्ञान लोकप्रियकरण दिवस की स्थापना हुई। अब तक इस दिवस पर विज्ञान लोकप्रियकरण के लिये लगभग 2 लाख 40 हजार गतिविधियां आयोजित हो चुकी हैं।

( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )

--आईएएनएस

एएनएम