शी और बाइडेन की फोन वार्ता

बीजिंग, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 10 सितंबर की सुबह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से फोन पर वार्ता की और चीन-अमेरिका संबंधों और आपसी चिंता के संबंधित मुद्दों पर निष्कपट, गहन और व्यापक रणनीतिक संपर्क और आदान-प्रदान किया।
 | 
शी और बाइडेन की फोन वार्ता बीजिंग, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 10 सितंबर की सुबह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से फोन पर वार्ता की और चीन-अमेरिका संबंधों और आपसी चिंता के संबंधित मुद्दों पर निष्कपट, गहन और व्यापक रणनीतिक संपर्क और आदान-प्रदान किया।

शी चिनफिंग ने सबसे पहले बाइडेन और अमेरिकी लोगों के प्रति तूफान एडा से अमेरिका के कई हिस्सों में जान-माल के भारी नुकसान पर संवेदना व्यक्त की। इसके लिए बाइडेन ने आभार जताया।

शी चिनफिंग ने बताया कि कुछ समय से अमेरिका द्वारा अपनाई गई चीन संबंधी नीतियों ने चीन-अमेरिका संबंधों में मुश्किलें पैदा की हैं, जो दोनों देशों के लोगों के मौलिक हितों और दुनिया के सभी देशों के सामान्य हितों के अनुरूप नहीं है। चीन और अमेरिका क्रमश: सबसे बड़े विकासशील और सबसे बड़े विकसित देश हैं। क्या चीन और अमेरिका अपने संबंधों को अच्छी तरह से संभाल सकते हैं, यह दुनिया के भविष्य और भाग्य के संबंधित है। चीन-अमेरिका सहयोग से दोनों देशों और दुनिया को फायदा होगा, जबकि चीन-अमेरिका टकराव से दोनों देशों और दुनिया को मुसीबतें मिलेंगी। चीन-अमेरिका के बीच अच्छे संबंध स्थापित करना एक बहुविकल्पीय प्रश्न नहीं, बल्कि एक आवश्यक सवाल है।

Bansal Saree

शी ने कहा कि 1971 से चीन और अमेरिका ने हाथ मिलाकर सहयोग करते हुए सभी देशों को ठोस लाभ पहुंचाया। वर्तमान में, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय कई समान समस्याओं का सामना कर रहा है। चीन और अमेरिका को बड़े देश की जिम्मेदारी निभाते हुए आगे देखते हुए आगे बढ़ना चाहिए, रणनीतिक साहस और राजनीतिक साहस निकालकर चीन-अमेरिका संबंधों को स्थिर विकास के सही रास्ते पर वापस लाना चाहिए।

बाइडेन ने कहा कि दुनिया में तेज बदलाव हो रहा है। अमेरिका-चीन संबंध दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण द्विपक्षीय संबंध हैं। अमेरिका और चीन एक दूसरे के साथ कैसे रहते हैं, यह दुनिया के भविष्य को काफी हद तक प्रभावित करता है। प्रतिस्पर्धा से दोनों देशों के बीच टकराव होने का कोई कारण नहीं है। अमेरिका का कभी भी एक-चीन नीति को बदलने का इरादा नहीं है। अमेरिका चीन के साथ और अधिक निष्कपट आदान-प्रदान और रचनात्मक संवाद करने, सहयोग के प्रथम क्षेत्रों को निर्धारित करने को तैयार है, ताकि गलतफहमी, गलत निर्णय और आकस्मिक संघर्ष से बचा जा सके और अमेरिका-चीन संबंधों को सही रास्ते पर वापस लाया जा सके। अमेरिका चीन के साथ जलवायु परिवर्तन समेत अहम मुद्दों पर संपर्क व सहयोग बढ़ाने और अधिक सहमतियां हासिल करने की अपेक्षा करता है।

Devi Maa Dental

दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि चीन और अमेरिका के नेताओं के बीच चीन-अमेरिका संबंधों और प्रमुख अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर गहन संपर्क चीन-अमेरिका संबंधों के सही विकास के मार्गदर्शन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। और नियमित संपर्क बनाए रखने, व्यापक संवाद करने और चीन-अमेरिका संबंधों के विकास के लिए अनुकूल स्थिति तैयार करने पर सहमति हासिल हुई।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम