ब्रिक्स देशों के नेताओं ने फिर एक बार क्लाउड भेंट-वार्ता की

बीजिंग, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। 9 सितंबर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने लगातार नौंवी बार ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लिया। चीन के राष्ट्रपति बनने के बाद शी चिनफिंग ने पहली बार किसी अंतर्राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया, जो कि ब्रिक्स था।
 | 
ब्रिक्स देशों के नेताओं ने फिर एक बार क्लाउड भेंट-वार्ता की बीजिंग, 10 सितम्बर (आईएएनएस)। 9 सितंबर को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने लगातार नौंवी बार ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लिया। चीन के राष्ट्रपति बनने के बाद शी चिनफिंग ने पहली बार किसी अंतर्राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया, जो कि ब्रिक्स था।

वर्ष 2006 में ब्रिक्स देशों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान पहली विदेश मंत्री वार्ता आयोजित की। जिससे ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग की शुरूआत औपचारिक रूप से की गयी। इस वर्ष ब्रिक्स शिखर सम्मेलन का मुद्दा है ब्रिक्स की 15वीं वर्षगांठ:ब्रिक्स के बीच सहयोग के विकास से निरंतरता, समेकन और आम सहमति को बढ़ावा दें।

Bansal Saree

गौरतलब है कि ब्रिक्स देशों का भूमि क्षेत्र विश्व के कुल क्षेत्रफल का 26.46 प्रतिशत है। और जनसंख्या भी विश्व की कुल जनसंख्या की 41.87 प्रतिशत तक है। समय के साथ ब्रिक्स देश विश्व में ज्यादा से ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं। शी चिनफिंग ने कहा कि अब ब्रिक्स देश अंतर्राष्ट्रीय मंच पर एक अनिवार्य महत्वपूर्ण शक्ति बन गये हैं।

आर्थिक व व्यापारिक क्षेत्र में आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2020 में पांच देशों की कुल आर्थिक मात्रा दुनिया का लगभग 24.42 प्रतिशत है, और व्यापार की कुल मात्रा दुनिया का 16.98 प्रतिशत है।

इस वर्ष की भेंट-वार्ता में शी चिनफिंग ने कहा कि वास्तविकता से यह साबित हुआ है कि चाहे हमारे सामने कितनी भी मुश्किलें क्यों न आयी हों, जब तक हम एक जगह सोचते हैं और एक साथ कड़ी मेहनत करते हैं, ब्रिक्स सहयोग लगातार आगे बढ़ता रहेगा।

Devi Maa Dental

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम