विंध्याचल- अग्रहरि समाज 20वीं राष्ट्रीय कार्यकारिणी का चुनाव संपन्न, सुभाष अग्रहरि बने राष्ट्रीय अध्यक्ष

 | 

केंद्रीय अग्रहरि समाज (अग्रहरि समाज रजिस्टर्ड) के 20 वें राष्ट्रीय कार्यकारिणी का चुनाव रविवार को अटल चौक विंध्याचल स्थित होटल अभिनव में संपन्न हुआ। सुबह आठ से चार बजे तक मतदाता प्रक्रिया में देश के तेरह प्रदेशों से पहुंचे मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान के लिए देश के विभिन्न राज्यों से 10 पीठासीन अधिकारी, 20 मतदान अधिकारी और आठ रिजर्व मतदान अधिकारी बनाए गये थे। चुनाव ठीक आठ बजे प्रारंभ किया गया। 

Bansal Saree

लोस विस और पंचायत चुनाव की तरह ही पहली बार संपन्न इस चुनाव में मतदाताओं के आधार कार्ड से नाम पते का सत्यापन करने के बाद ही उन्हें मतदान कक्ष में भेजा जा रहा था। जहां हस्ताक्षर करने के बाद मतपत्र लेकर मतदान उपरांत मतपेटियो में डाल रहे थे। इस बीच मुख्य चुनाव आयुक्त शिव कुमार अग्रहरी (कलकत्ता) एवं चुनाव आयुक्त के रूप में सुरेश चंद्र अग्रहरि एवं तरुण कुमार गुप्त अग्रहरि द्वारा लगातार ध्वनि विस्तार यंत्र के माध्यम से मतदाताओं एवं मतदान अधिकारियों को निर्देश दिये जा रहे थे।

चुनाव में सबका विश्वास जरूरी- राजेश अग्रहरि

अमेठी के जिला पंचायत अध्यक्ष एवं जाने-माने उद्योगपति राजेश अग्रहरि 'मसाला' ने कहा कि केंद्रीय अग्रहरि समाज में कोई विवाद नहीं है। परिवार में पद पाने के लिए नाराजगी होती है, लेकिन उसे दूर करते हुए नाराज लोगों को भी साथ लेकर चलने का काम केंद्रीय अग्रहरि समाज के नवनिर्वाचित पदाधिकारीगण करेंगे। नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष अग्रहरि, राष्ट्रीय महामंत्री अशोक कुमार अग्रहरि व कोषाधयक्ष घनश्याम अग्रहरि ने इस नाराजगी को शीघ्र दूर करते हुए समाज को पूरे देश में मजबूत करते हुए राजनीतिक क्षेत्र में भी प्रतिभावान लोगों को आगे ले जाया जाएगा।

Devi Maa Dental

अमेठी जिला पंचायत अध्यक्ष/वरिष्ठ समाजसेवी राजेश अग्रहरि (राजेश मसाला) का विंध्याचल में राष्ट्रीय चुनाव में मतदान के बाद समाज के प्रति संबोधन राजेश अग्रहरि (राजेश मसाला) ने कई प्रदेशों से स्वजाति बन्धुओ के पहुचने और समाज को एकजुट करने हेतु सशक्त होने के साथ चुनाव में अपने मत का प्रयोग कर समाज को आगे बढ़ाने में अपनी सहभागिता हर समय रखने हेतु लोकतांत्रित तरीके से हो रहे चुनाव में सबको विश्वास रखने की बात कही। पूरे समाज का कल्याण हो, वैभव बढ़े जिसमे हम सभी की भागीदारी बनी रहे। नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष अग्रहरि ने कहा कि देश के अग्रहरि वैश्य समाज को संगठन के सूत्र में पिरोते हुए एकजुट कर हर क्षेत्र मे आगे ले जाने का कार्य करुंगा। 

मतगणना कार्य संपन्न होने के उपरांत शपथ ग्रहण का कार्यक्रम रविवार को देर शाम संपन्न हुआ। चुनाव में विजयी हुए नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष चंद्र अग्रहरि (1297 मत प्राप्त), राष्ट्रीय महामंत्री अशोक अग्रहरि (1359 मत प्राप्त) और राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष घनश्याम अग्रहरि (1120 मत प्राप्त) को पद एवं गोपनीयता की शपथ अमेठी के जिला पंचायत अध्यक्ष एवं जाने-माने उद्योगपति राजेश अग्रहरि द्वारा नगर विधायक रत्नाकर मिश्र की उपस्थिति मे दिलाई गयी।मुख्य अतिथि ने नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को प्रमाण पत्र भी सौंपा। तदुपरांत चुनाव समिति एवं नवनिर्वाचित पदाधिकारियों ने मुख्य अथिति को मुकुट पहनाकर एवं 51 किलो का माला पहनाकर सम्मानित किया गया। 

चुनाव संयोजक रमेश अग्रहरि ने बताया कि देश के विभिन्न राज्यो से मतदाता विंध्याचल पहुंचे और मतदान किया। इस चुनाव में पूरे देश के आजीवन पत्रिका सदस्य अपने मताधिकार का प्रयोग किये। चुनाव संयोजक रमेश अग्रहरि ने बताया कि अध्यक्ष पद पर निर्वाचित सुभाष अग्रहरि हल्द्वानी उत्तराखंड के अलावा अन्य उम्मीदवार राकेश कृष्ण अग्रहरी दिल्ली, पवन अग्रहरि जमशेदपुर टाटा,  महामंत्री पद के लिए निर्वाचित अशोक अग्रहरि वाराणसी के अलावा अन्य प्रत्याशी मयंक अग्रहरि पश्चिम बंगाल एवं कोषाध्यक्ष पद पर विजयी घनश्याम अग्रहरि पश्चिम बंगाल के अलावा प्रदीप अग्रहरि दिल्ली और सोहन लाल अग्रहरि वर्धमान को भी मंच पर चुनाव समिति द्वारा सम्मानित किया गया। 

इस अवसर पर चुनाव संयोजक व प्रदेश अध्यक्ष रमेश अग्रहरि ने कहाकि विधानसभा चुनाव मे यूपी के 16 सीटों पर अग्रहरि समाज और चार सौ सीटों पर वैश्य समाज जीत हार में निर्णायक साबित हो सकता है। राजनीतिक दलों को इसी अनुपात में अग्रहरि एवं वैश्य समाज के सामाजिक एवं राजनीतिक सक्रिय लोगों को अवसर देना चाहिए और हम समाज की ओर से पुरजोर मांग उठा रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष एवं चुनाव संयोजक रमेश अग्रहरि ने कहा कि जो भी राजनीतिक दल हमें महत्व देंगे, उन्हें पूरे उत्तर प्रदेश में इसका लाभ मिलेगा। इसके साथ ही अग्रहरि समाज को पिछड़ी जाति मे शामिल कराने की कार्रवाई चल रही है, शीघ्र ही हमारा समाज पिछड़ी जाति में शामिल होगा।

चुनाव संपन्न कराने में ये रहे शामिल

चुनाव संपन्न कराने में प्रमुख रुप से पीठासीन अधिकारी में एडवोकेट विश्वेश्वर प्रसाद अग्रहरि, रामसागर अग्रहरि प्रधानाचार्य, शालिग्राम अग्रहरि रजिस्ट्रार कानूनगो, राजेश अग्रहरि, गौरव गुप्ता, रामबाबू गुप्ता, शैलेश गुप्ता, फूलचंद गुप्ता अग्रहरि, त्रिभुवननाथ अग्रहरि, एडवोकेट हाईकोर्ट राजकुमार वैश्य, मतदान अधिकारियो मे सुभाष चंद्र अग्रहरी, राजकुमार गुप्ता, देवेंद्र कुमार अग्रहरि, विजय कुमार अग्रहरि, सोनू गुप्ता, सुनील गुप्ता, सुनील अग्रहरि, ज्ञान प्रकाश अग्रहरि, सोहन लाल गुप्ता, इंजीनियर शिव शंकर राम, लक्ष्मण गुप्ता, आनंद गुप्ता, सतीश गुप्ता, विनोद कुमार, दिनेश कुमार, अजय कुमार गुप्ता, जितेंद्र अग्रहरि, धर्मेंद्र कुमार अग्रहरि, राजेश अग्रहरि शामिल रहे।


केंद्रीय अग्रहरि समाज के संरक्षक रामजी अग्रहरि, कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश चंद्र अग्रहरि,सुनील अग्रहरि महामंत्री अग्रहरि समाज उत्तराखंड मदन लाल अग्रहरि, सुंदर अग्रहरि,
रमेश वैश्य,अजय अग्रहरि, लक्ष्मी नारायण अग्रहरि, माता प्रसाद अग्रहरि, संतोष अग्रहरि, राकेश अग्रहरि, महेश अग्रहरि,शिवजी अग्रहरि, गणेश अग्रहरि, गोविंद अग्रहरि, मिथिलेश अग्रहरि,उमेश अग्रहरि, पंकज अग्रहरि, विजय वैश्य,शशी वैश्य,राहुल वैश्य,अंकुर वैश्य,दीपक नरेश अग्रहरि, विमलेश अग्रहरि, बृजेश अग्रहरि (बादल), रमेश कुमार अग्रहरि, हिमांशु अग्रहरि, पंकज अग्रहरि, कृष्ण कुमार अग्रहरि कपिल अग्रहरि मोहन अग्रहरि संजय अग्रहरि सूरज भान अग्रहरि शाशनक अग्रहरि रमेश अग्रहरि सहित देश के तेरह राज्यों से तमाम मतदाता व अग्रहरि महिला समाज से भी भारी संख्या में मातृशक्ति आदि मौजूद रहे।