पश्चिम बंगाल में 49 साल बाद ऐसे नतीजे, टीएमसी 206 सीटों पर आगे, भाजपा 83 सीटों पर बना रही बढ़त

पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनावों के नतीजों की आज होगी घोषणा

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना महामारी के बीच देश के पांच राज्‍यों में हुए चुनावों के बीच आज इन चुनावों के नतीजों के लिए मतगणना जारी है। आज बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी के चुनाव नतीजे आ रहे हैं। पूरे देश की नजरें आज सबसे ज्‍यादा पश्चिम बंगाल के चुनावी नतीजों पर टिकी हुयी थीं। प बंगाल में भाजपा ने सत्‍ता पाने के लिए इस बार पूरा जोर लगाया था। पूरी भाजपा के स्‍टार प्रचारकों समेत खुद प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने बंगाल में डेरा डाला था और कई रैलियां आयोजित करके भाजपा का वोटबैंक बढ़ाने की कोशिश की थी। लेकिन आज शुरू हुई मतगणना में प बंगाल में भाजपा के सपने धराशायी होते दिखायी दे रहे हैं।

Devi Maa Dental

पहले राउंड से ही प बंगाल में ममता बनजी की पार्टी टीएमसी ने जो बढ़त बनायी वो अभी तक बरकरार है। वहीं भाजपा के प्रत्‍याशियों की सीटों पर बढ़त आती नहीं दिखाई दे रही है। हालांकि एग्जिट पोल में पहले भाजपा को सर्वाधिक सीटें जीतने की बात कही गयी थी लेकिन रविवार को शुरू हुयी मतगणना के रूझानों के बाद सभी एग्जिट पोल धरे रह गए हैं। प बंगाल में विधानसभा की 292 सीटों के लिए चुनाव हुए थे। बंगाल में अभी 12 बजे तक के रूझानों के अनुसार तृणमूल कांग्रेस 206 सीटों पर आगे चल रही है। वहीं भाजपा केवल 83 सीटों पर आगे चल रही है। इसके अलावा कांग्रेस समेत अन्‍य दलों को भी कोई खास बढ़त हासिल होती नहीं दीख रही है। उधर, शुरुआती रुझानों में ममता बनर्जी नंदीग्राम में भाजपा के शुभेंदु अधिकारी से 7 हजार से ज्यादा वोटों से पिछड़ती दिखीं।

यहां एक जानकारी की बात...1972 से अब तक बीते 49 साल में बंगाल में यह 11वां चुनाव है। दूसरी बार ऐसा हो रहा है कि जो पार्टी जीत रही है, वह 200 सीटों के आंकड़े से पीछे है। तृणमूल ने 2016 में 211 और 2011 में 228 सीटें जीती थीं। उससे पहले 7 बार लगातार लेफ्ट ने चुनाव जीता। सिर्फ एक बार 2001 में लेफ्ट को 196 सीटें मिलीं। बाकी चुनावों में वह हमेशा 200 सीटों से ऊपर रही।

Bansal Saree

बाकी राज्यों का हाल
अब बाकी राज्यों के हाल जानते हैं। बंगाल के बाद असम के नतीजों पर सबकी नजर है। यहां शुरुआती 2 घंटों के रुझानों में भाजपा+ बहुमत का आंकड़ा पार कर 68 सीटों पर पहुंच गई। उधर, केरल में सत्ताधारी लेफ्ट को आसानी से बहुमत मिलता दिख रहा है। वहीं, तमिलनाडु में अनुमान सही साबित होते दिख रहे हैं। यहां द्रमुक+ शुरुआती दो घंटों के रुझानों में ही बहुमत के 118 सीटों के आंकड़े को पार कर गया। पुडुचेरी में भाजपा+ और कांग्रेस+ में शुरुआत में कांटे का दिखा, लेकिन बाद में भाजपा+ आगे निकल गई।