रामनवमी आज, अश्लेषा नक्षत्र में प्रभु श्री राम के जन्‍म का बन रहा मंगल योग

ऐसे करें पूजन, जानिए रामनवमी का महत्‍व और विशेष पूजन मुहूर्त

 | 

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। नवरात्र व्रत परायण के समापन के साथ ही कन्‍या पूजन और अर्चन के साथ ही आज रामनवमी का पावन पर्व मनाया जाएगा। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, मर्यादा पुरुर्षोत्तम भगवान राम का जन्म त्रेतायुग में चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को अयोध्या में हुआ था। भगवान श्रीराम के जन्मदिवस को राम नवमी के नाम से भी जाना जाता है। इस वर्ष राम नवमी आज 21 अप्रैल दिन बुधवार को है। आज बुधवार 21 अप्रैल को अयोध्या समेत सभी श्रीराम मंदिरों में भगवान राम का जन्मोत्सव मनाया जाएगा।  आइए जानते हैं राम नवमी की तिथि, राम जन्मोत्सव मुहूर्त और राम नवमी के महत्व के बारे में।

Devi Maa Dental

राम नवमी तिथि 2021

चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि का प्रारंभ 20 अप्रैल दिन मंगलवार को देर रात 12 बजकर 43 मिनट से हो रहा है। इसका समापन 21 अप्रैल दिन बुधवार को देर रात 12 बजकर 35 मिनट पर हो रहा है। ऐसे में राम नवमी का पर्व या भगवान राम को जन्मोत्सव 21 अप्रैल को मनाया जाएगा।

Bansal Saree

राम नवमी 2021 मुहुर्त

भगवान राम का जन्म चैत्र शुक्ल नवमी को दोपहर के समय में हुआ था। ऐसे में भगवान राम का जन्मोत्सव दोपहर में ही मनाया जाएगा। इस वर्ष राम नवमी जन्मोत्सव का मुहूर्त अश्लेषा नक्षत्र में 2 घंटे 35 मिनट का प्राप्त हो रहा है। यह 21 अप्रैल को दिन में 11 बजकर 02 मिनट से दोपहर 01 बजकर 38 मिनट तक है। यदि आप अपने घर पर भगवान राम के जन्मोत्सव का आयोजन कर रहे हैं तो आपको राम नवमी के मुहूर्त का ध्यान रखना होगा।

राम नवमी का महत्व

राम नवमी के दिन लोग स्नान आदि से निवृत होकर व्रत का संकल्प करते हैं। उसके बाद सूर्योदय से लेकर अगले दिन के सूर्योदय तक व्रत रखते हैं। राम नवमी के दिन भगवान श्री राम की विधि विधान से पूजा की जाती है। इस दिन मंदिरों में रामचरितमानस की चौपाइयां सुनने को मिलती हैं। लोग अपने मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए भगवान श्रीराम के चरणों में श्रद्धा के पुष्प अर्पित करते हैं। चैत्र शुक्ल नवमी के दिन भगवान राम का जन्म हुआ, इसलिए इस तिथि का महत्व ​अधिक है क्योंकि भगवान राम तो स्वयं ही भगवान विष्णु के अवतार हैं। इस दिन भगवान स्वयं धरती पर जन्मे थे। ऐसे में लोग उनकी आराधना कर अपने मनोकामनाओं की पूर्ति कर लेना चाहते हैं। आज के दिन अच्छा रहेगा कि हम राम जन्म के समय श्री राम जन्म स्तुति श्री राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करें जिससे जीवन में मंगल की प्राप्ति प्रभु के आशीर्वाद से हो सकेl  संपूर्ण जनमानस को अजन्मा प्रभु श्री राम के प्रकट उत्सव दिवस की बहुत-बहुत मंगल कामनाएं l

अष्‍टमी पर कन्‍या पूजन, मन्दिरों में उमड़े श्रद्धालु

शहर के कालीबाड़ी मंदिर में अष्टमी पर मंदिर में श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़ लोगों ने मां काली के मंदिर में भक्तों ने गीत गए देवी मां के दर्शन किये  मंदिर में आने जाने वाले भक्तों को गेट पर ही  सैनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग कर एंट्री दी जा रही थी भक्त सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करते नजर आए। शहर के साहूकारा के नौ देवी मंदिर , सुभाष नगर के चौरासी घंटा मंदिर में भक्तों की भीड़ रही ।